विधायक भवरसिंह भाटी ने सौपाज्ञापन 

हैलो बीकानेर। गत दिनों पहले राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार को अजीबोगरीब स्थिति का सामना करना पड़ा, जब पूरे राज्य को लगभग सभी पुलिसकर्मी सरकार के खिलाफ ही विरोध-प्रदर्शन पर उतर आए. वेतन में 5000 रुपये की कटौती को लेकर पूरे राजस्थान में पुलिसकर्मियों ने विरोध प्रदर्शन किया और विरोध स्वरूप खाने का ही बहिष्कार कर दिया.

श्रीकोलायत विधायक भवरसिंह भाटी ने राजस्थान पुलिस कर्मियो की मांगो के समाधान हेतु मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व ग्रहमंत्री गुलाब चंन्द कटारिया को ज्ञापन सौपा और बताया की राजस्थान पुलिस कर्मियो के पिछले 5 -6  दिनों से वेतनमान में कटौती के आदेश के पश्चात राजस्थान पुलिस के जवानों में रोष व्याप्त हैं। पिछले 5 -6  दिनों से वेतनमान में कटौती के आदेश के पश्चात राजस्थान पुलिस के जवानों में रोष व्याप्त हैं। राजस्थान सरकार ने वर्ष 2006 मे पश्चात भर्ती शुदा 2400 व 2800 ग्रेड पे वाले कार्मिको के निर्धारित वेतनमान में कटोती के आदेश पारित किए हैं जो सरासर अनैतिक व अमान्य हैं और निर्णय के विरोध में प्रदेश भर में पुलिस के जवानो द्वारा मैस का बहिष्कार किया जा रहा हैं और एक जिले में जवान ने कटौती के आदेश से निराश होकर आत्महत्या का प्रयास किया और इस वजह से शासन का देश में एक स्वच्छ संदेश नहीं जा रहा है। इसलिए चूंकि राज्य के पुलिस बल में कार्यरत जवान प्रदेश की आंतरिक सुरक्षा जिम्मेदारी के साथ कर रहे  हैं ऐसे  में इस तरह के आदेश उनके मनोबल को कम करते हैं साथ ही वेतनमान में कटोती जवानों सहित उन पर निर्भर परिजनों के हितों के साथ भी कुठारघात है। इसलिए राजस्थान पुलिस के जवानों द्वारा अवगत करवाए गये मांग पत्र की मांगो पर आपका ध्यान आकर्षित करते हुएंे निवेदन करना चाहता हूॅं की पुलिस सहित विभिन्न विभागों में कार्यरत कार्मिकों के वेतनमान में कटोती के आदेशों को तत्काल प्रभाव से निरष्त करते हुए  कार्मिकों के साथ न्याय करें ।

 

  •  वेतन कटोती नही की जावे।
  •  कानिस्टेबल का ग्रेड पे थर्ड का एवं हैड कानि. का ग्रेड पे सैकण्ड ग्रेड का किया जावे।
  • सातवा वेतनमान केन्द्र की तरह 01 जनवरी 2016 से दिया जावे। मैस भत्ता कम से कम 4000 रुपये किया जावे।
  • मैस भत्ता व हार्ड ड्युटी इनकम टैक्स से फ्री किया जावे।

उक्त मॉगों पर सकारात्मक विचार करके आप पुलिस कार्मियों की समस्याओ का समाधान करने का आदेश फरमावे।

LEAVE A REPLY