रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार दो वर्षों में 55 लाख 60 हजार लोगो को मुफ्त में मोबाइल फोन वितरित करेंगी।लगभग 1230 करोड़ रूपए की इस योजना को रमन सरकार की चुनावी वर्ष की ओर बढ़े रहे राज्य में लोगो से सीधे जुड़ने की एक अहम कवायद माना जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां यूनीवार्ता को बताया कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह इस योजना को सही ढ़ग से क्रियान्वित किए जाने के प्रति स्वयं काफी दिलचस्पी ले रहे है।उन्होने मुख्य सचिव से कहा है कि योजना का सही ढ़ग से क्रियान्वयन होना चाहिए और इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए।राज्य में लोगो को छत्तीसगढ़ संचार क्रांति योजना (स्काई) के तहत वितरित किए जायेंगे।डा.सिंह के निर्देश पर इस योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में उच्च अधिकार प्राप्त समिति का गठन किया है। सूत्रों ने बताया कि राज्य में ढाई साल के भीतर 55 लाख 60 हजार लोगों को निःशुल्क मोबाइल फोन देने के लिए एक हजार 230 करोड़ रूपए की कार्ययोजना तैयार की गई है।इसमें से 50 लाख 80 हजार हितग्राहियों को चालू वित्तीय वर्ष 2017-18 और अगले वित्तीय वर्ष 2018-19 में मोबाइल फोन बांटने का लक्ष्य है। इनमें 40 हजार 10 हजार ग्रामीण हितग्राही और पांच लाख 60 हजार शहरी गरीबों सहित तकनीकी और गैर तकनीकी कॉलेजों के पांच लाख 10 हजार विद्यार्थी शामिल होंगे।
प्रथम चरण में इस पर 1128 करोड़ रूपए की लागत आने का अनुमान है। शेष चार लाख 80 हजार परिवारों को वित्तीय वर्ष 2019-20 में मोबाइल फोन दिए जाएंगे, जिस पर अनुमानित 102 करोड़ रूपए की लागत आएगी।राज्य के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग ने योजना के क्रियान्वयन की तैयारी शुरू कर दी है।योजना के लिए अधिसूचना भी जारी कर दी है। 

LEAVE A REPLY