अगरतला।  खोवाई-अगरतला सड़क मार्ग पर नाबालिगों समेत चार रोहिंग्या शरणार्थियों को हिरासत में लिए जाने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर त्रिपुरा में आज अलर्ट जारी कर दिया गया।
पुलिस ने बताया कि प्रारंभिक जांच से लगता है कि रोहिंग्या शरणार्थी म्यांमार से भागकर बंगलादेश जा रहे थे। कल सुबह उन्होंने पश्चिमी त्रिपुरा के खोवाई में घुसने के लिए भारत-बंगलादेश सीमा पार की थी।
बाद में अगरतला जाने के लिए चारों राेहिंग्या भाड़े पर कार ली जो एक पुलिस वाहन से जा टकराई। पुलिस ने चारों को हिरासत में लेने के बाद अदालत में पेश किया। अदालत ने उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया जबकि नाबालिगों को अगरतला बाल सुधार गृह भेज दिया गया।
हिरासत में लिए गए लोगों से हासिल जानकारी के आधार पर पुलिस ने राज्य में और रोहिंग्या शरणार्थियों के छिपे होने की आशंका जतायी है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य के गृह विभाग को परामर्श भेजकर रोहिंग्या शरणार्थियों के मामले में और चौकस रहने काे कहा है।
सीमा सुरक्षा बलों की ओर से भारत-बंगलादेश सीमा पर चौकसी बढ़ाने के अलावा असम राइफल्स से त्रिपुरा-मिजाेरम सीमा पर कंचनपुर में तथा पश्चिम त्रिपुरा के अन्य स्थानों पर अत्यधिक सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। अधिकारियों ने बताया,“राज्य में घुसपैठ को रोकने के लिए अन्य सुरक्षा बलों को भी सतर्क रहने को कहा गया है।” 

LEAVE A REPLY