हैलो बीकानेर । एलोवरा के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए डाॅ राम बजाज ने नई गुणवत्ता परक मिट्टी बनाने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने बताया कि रेगिस्तानी मिट्टी में पौषक तत्व व मिनरल्स की कमी है।
डाॅ बजाज ने सात वर्षों के रिसर्च के पश्चात मिट्टी में छोटे-छोटे मिनिरल्स पार्टिकल्स विकसित करने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने बताया कि मिट्टी में सूक्ष्म जीवाणुओं द्वारा पौषक तत्वों को ग्रहण करने लायक बनाया जाता है।
उन्होंने अपने अनुसंधान के माध्यम से मिनरल्स को 200 माईक्रोन के घर्षण व अन्य विधियों प्रयोग कर छोटे से छोट कणों में विभक्त कर बायोलाॅजिकल कम्पोस्ट खाद में मिश्रित कर नई मिट्टी तैयार की तथा इस मिट्टी में एलोवेरा की खेती कर पौधे प्राप्त किए। डाॅ बजाज का कहना है कि अपने औषधीय गुणों के कारण एलोवरा दुनिया का चमत्कारिक पौधा है। इसमें ब्लड शुगर, हार्ट अटैक, उच्च रक्तचाप, क्लोन कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता है। कई परीक्षणों में इस पौधे के गुणों की पुष्टि की गई है। उन्होंने बताया कि वे पूर्व में ग्वार, मूंगफली, गेंहू, चना सहित अन्य फसलों की गुणवत्ता बढ़ाने की खोज की है।
कैसे काम करता है एलोवेरा
एलोवेरा शरीर से टाॅक्सिन और फ्री रेडिकल को बाहर निकाल कर अम्ल क्षार अनुपात को सही कर देता है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन ई के साथ-साथ कैल्शियम, सोडियम, आयरन, सल्फर, क्रोमियम, मैगनीज तथा जिंक होता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY