बीकानेर। बीकानेर जिलेे के श्रीडूंगरगढ़ तहसील में सोमवार सुबह एक नाबालिग ने फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया। श्रीडूंगरगढ़ पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार तहसील के कालूबास में रहने वाले अरविन्द पुरोहित के 12 वर्षीय पुत्र अभिषेक ने पंखे से फंदा लगाया।

बताया जा रहा है कि पडौस में हवन चल रहा था और अभिषेक घर में अकेला ही था। जब अभिषेक की दादी किसी कार्यवश घर आई तो उसने अभिषेक को पंखे से झूला हुआ देख अवाक रह गई और परिजनों को बुलाया। हालांकि अभी तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि आखिर अभिषेक ने आत्महत्या क्यों की। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। नाबालिग के इस तरह फांसी खाने से कस्बे में ग्रामीण सदमें में आ गये है। 

 

4 COMMENTS

  1. I know this if off topic but I’m looking into starting my own blog and was wondering what all is required to get set up? I’m assuming having a blog like yours would cost a pretty penny? I’m not very web savvy so I’m not 100 positive. Any recommendations or advice would be greatly appreciated. Cheers

  2. I just want to tell you that I am all new to blogging and site-building and actually loved you’re web-site. Probably I’m want to bookmark your blog . You amazingly come with remarkable posts. Thanks for sharing with us your web page.

  3. What this will mean is that traceability-exact software programs (like HarvestMark and Red Prairie) isn’t created to control supporting paper paperwork this sort of as get orders, invoices, costs of lading, and so on. The consequence is the equivalent of a jigsaw puzzle that’s lacking a quarter of its items. Sure, you have some items, but you’re lacking just adequate that the image isn’t comprehensive. In the celebration of a foods recall, when time is of the essence, developing to hunt for lacking pieces isn’t acceptable.

LEAVE A REPLY

*

code