left

सैंकड़ों दीपक प्रज्वलित कर नववर्ष का स्वागत, सनातन संस्कृति की रक्षा करने वाली प्रतिभाएं सम्मानित

बीकानेर। हिंदू नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर शनिवार को सनातन संस्कृति रक्षा मंच की ओर से नत्थूसर गेट के बाहर स्थित सूरदासाणी बगीची में भैरूनाथ तथा भारत माता का पूजन एवं महाआरती की गई। शहर वासियों ने दीपदान एवं आतिशबाजी के साथ नव संवत्सर का पलक पावड़े बिछाकर स्वागत किया। इस अवसर पर सनातन संस्कृति की रक्षा करने वाली वरिष्ठ प्रतिभाओं का अभिनंदन किया गया।

सम्मानित होने वालों में वयोवृद्ध पंडित नथमल पुरोहित, पंडित जुगल किशोर ओझा ‘पुजारी बाबा’, जेठानंद व्यास, लाल फौज के सत्यनारायण कलवाणी, गेवरचंद जोशी तथा शिक्षाविद् जानकी नारायण श्रीमाली शामिल रहे। वक्ताओं ने सनातन धर्म की ऐतिहासिकता एवं समृद्धता के बारे में बताया। पंडित नथमल पुरोहित ने कहा कि सनातन संस्कृति अनादि काल से है और अनंतकाल तक रहेगी। पुजारी बाबा ने कहा कि सनातन धर्मावलम्बियों को इस परम्परा पर गर्व होना चाहिए। जानकी नारायण श्रीमाली ने कहा कि सनातन संस्कृति, विश्व की समस्त संस्कृतियों से श्रेष्ठ है। राजेन्द्र व्यास ने कहा कि हमारी परम्पराएं, संस्कार, संस्कृति पूरी दुनिया के लिए थाती है।

 

अविनाश जोशी ने कहा कि युवाओं तक सनातन परम्पराओं को पहुंचाने की जिम्मेदारी हम सभी की है। ऐसे कार्यक्रम इस दिशा में मील का पत्थर साबित होंगे। उन्होंने कहा कि नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर हमें देश की एकता और अखंडता का संकल्प लेना चाहिए। जेठानंद व्यास ने नवसंवत्सर को महोत्सव के  रूप में मनाने का आह्वान किया तथा रविवार को आयोजित होने वाली धर्मयात्रा को सफल बनाने की अपील की। इस अवसर पर महापौर नारायण चैपड़ा, पार्षद नरेश जोशी, शिवकुमार रंगा ‘सम्राट’, पूर्व सभापति चतुर्भुज व्यास, पूर्व पार्षद जुगल किशोर जोशी, कन्हैयालाल जोशी, शांति प्रसाद बिस्सा, उमा शंकर आचार्य, भाजपा मंडल अध्यक्ष विजय उपाध्याय, आनंद व्यास, महेन्द्र चूरा, अच्युत नारायण पुरोहित, मूलचंद किराड़ू, नवनीत पुरोहित, कमल आचार्य, अश्विनी व्यास, भाजपा शहर उपाध्यक्ष भूपेन्द्र शर्मा, प्रहलाद ओझा ‘भैंरू’, नवरत्न व्यास, बल्ली व्यास,  सूरज प्रकाश राव, सुधीर व्यास, शैलेष गुप्ता, शिवकिसन जोशी सहित बड़ी संख्या में आमजन मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया।

सैंकडों दीप जलाकर दिया प्रकाश का संदेश

कार्यक्रम के दौरान ग्यारह सौ दीपक जलाकर दुनिया में प्रकाश का संदेश दिया। गोकुल सर्किल पर रंग-बिरंगी आतिशबाजी करते हुए देशभक्ति के गीतों के बीच नववर्ष का स्वागत किया गया। इस अवसर पर पंडित विजय कुमार पुरोहित ‘मोरसा’ के आचार्यत्व भगवा रंग में रंगे भैरूनाथ का विशेष पूजन किया गया। इस अवसर पर सनातन प्रेमियों ने अखंड भारत की आरती की। वेद व्यास ने ‘पुकारती मां भारती’ गीत की प्रभावी प्रस्तुति दी।