Websity

बीकानेर hellobikaner.com रामलाल सूरजदेवी रांका चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष महावीर रांका द्वारा सूखे राशन की पचास किट वार्ड नं. 47 के अशोक उपाध्याय, नारायण उपाध्याय, धीरज पंचारिया व  दिनेश जोशी को सौंपी गई। ट्रस्ट के रमेश भाटी ने बताया कि उक्त राशन की 50 किट अशोक उपाध्याय व सहयोगी कार्यकर्ताओं द्वारा वार्ड के जरुरतमंदों को वितरित की जाएगी।

भाटी ने बताया कि ट्रस्ट की ओर से निराश्रित गौवंश को दो हजार किलो सब्जियां काट कर खिलाई गई। खेळियों में पशुओं के लिए रोजाना टंकियों से पानी डलवाए जाने का कार्य भी लगातार जारी है। 40 किलो आटे की रोटियां बना कर स्वानों को खिलाई जा रही है। उक्त सेवा कार्यों में पूर्व पार्षद राजेन्द्र शर्मा, पवन महनोत, मधुसूदन शर्मा, आनन्द सोनी, टेकचन्द यादव, मनोज गहलोत, शम्भू गहलोत, राजेन्द्र व्यास, कुलदीप यादव, प्रणव भोजक, पवन सुथार, संजय स्वामी, टेकचन्द यादव, बाबू सुथार आदि शामिल रहे।

बीकानेर : पुलिस थाना कोतवाली में निषेधाज्ञा क्षेत्र दायरा बढ़ाया

ई-मित्र पर आई महिलाओं को दिया जागरुकता का संदेश
पूर्व यूआईटी चैयरमेन रांका ने अपने कार्यालय में बने तथा ट्रस्ट द्वारा संचालित ई-मित्र पर आई महिलाओं को हाथ धोने के लिए सेनेटाइजर दिए तथा मास्क देकर फिजिकल डिस्टेंस हेतु जागरुक किया गया। ज्ञात रहे रांका द्वारा संचालित उक्त ई-मित्र में नि:शुल्क सेवाएं प्रदान की जाती है। किसी भी फार्म अथवा प्रक्रिया सरकारी चार्ज लगता है तो वह उपभोक्ता को देना होता है, इसके अतिरिक्त कोई भी सर्विस चार्ज नहीं लिया जाता  है।

विष्णु दत्त विश्नोई की आत्महत्या मामला, राजस्थान सरकार पर बहुत बड़ा सवालिया निशान : हनुमान बेनीवाल

बिश्नोई की मौत की उच्च स्तरीय हो जांच : रांका
राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई की मौत की सूचना पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष महावीर रांका ने सरकार से उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। रांका ने कहा कि पुलिस विभाग के गौरव विष्णुदत्त बिश्नोई जिस थाने में भी रहे वहां आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय वाली पहचान कायम की। स्व. बिश्नोई द्वारा बीकानेर में लम्बे समय से विभिन्न थानों में पोस्टिंग के दौरान श्रेष्ठ कार्य किए गए। पूर्व चैयरमेन रांका ने बताया कि बिश्नोई जैसा जांबाज पुलिस अधिकारी आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकता। इसलिए हर हाल में सीबीआई जांच करवाई जाए।

कोविड-19 से लड़ने में एचआईवी दवाओं से अधिक कारगर कांगड़ा चाय : विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय