left

हैलो बीकानेर। बीकानेर की इस बेटी ने तो वो कर दिखाया जो कोई आम इंसान के बस की बात नहीं। बीकानेर की 15 वर्षीय सुनीता स्वामी की पास जो प्रतिभा है उसको जानकर आप हैरान रह जायेंगे। दुनिया में इंसान को जो कुछ भी देखता है उन आखों को अगर बंद कर दिया जाये तो क्या होगा ? जाहिर सी बात है की दिखाई देना बंद हो जायेगा लेकिन सुनीता के लिए ये सब खेल की तरह है। सुनीता बंद आखों से वो सब देख-पढ़ सकती जो आम लोग खुली आखों से देख-पढ़ सकते है। सुनीता बताती है आखे बंद करने के बाद उसके माथे पर एक अंको की लाइन चलती है उससे उसको बंद आखों से सब पता चल जाता है।

जी राजस्थान न्यूज़ के अनुसार सुनीता आखों पर पट्टी बांधकर कार ड्राइव कर सकती है, साईकिल चला सकती है, विजिटिंग चार पढ़ सकती है, नोट पर लिखे नंबर हो या तीरंदाजी करना यह सब सुनीता आख पर पट्टी बांधकर कर सकती है। सुनीता के तीरंदाजी कोच गणेश व्यास ने बताया की सुनीता स्वामी चुरू के सालासर से तीरंदाजी करती है और अभी धोलपुर में होने वाली राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए सुनीता स्वामी का चयन हुआ है। व्यास ने बताया की सुनीता आखों पर पट्टी बांधकर निशाना लगा सकती है।

अब कोई इसको सुनीता की प्रक्टिस कहे या कोई चमत्कार लेकिन जो कुछ भी सुनीता करती है वो सुनीता को अनोखा जरुर बनता है।

आप भी देखे सुनीता का यह कारनामा …

यह भी पढ़े : 

बीकानेर की रंगनेत्री संयोगिता का “इंडिया के मस्त कलंदर शो” में हुआ चयन, पहुंची दुसरे राउंड में