Websity

बीकानेर। ‘परम्परा’ बीकानेर  की ओर से जल धरोहर संरक्षण अभियान के तहत श्री सिद्धान्त झंवर की स्मृति में शहर के प्रख्यात हर्षोलाव तालाब की साफ-सफाई का कार्य करवाया गया। संस्था द्वारा इस कार्य के तहत हर्षोलाव तालाब में जमा झाड़ झंखार, पूजन सामग्री से फेले कचरे एवं आवश्यक खुदाई एवं लेवलिंग का कार्य करवाया गया।

जल धरोहर संरक्षण अभियान के संयोजक डाॅ.श्रीलाल मोहता ने बताया कि संस्था द्वारा इस अभियान के तहत बीकानेर के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों की महत्वपूर्ण तालाब और तलाइयों को साफ-सुथरा बनाने का कार्य किया जा रहा है। इस महत्ती कार्य के तहत वर्तमान में शहर के प्रख्यात तालाब हर्षोलाव की साफ-सफाई का कार्य करवाया गया है। इसके पश्चात् अगले सप्ताह शहर के अन्य तालाब महानंदजी की तलाई की साफ-सफाई का कार्य किया जाएगा। इस क्रम में नाल की तलाई, सालासर गांव की तलाई, दरबारी तालाब आदि में भी साफ-सफाई एवं आवश्यक मरम्मत आदि का कार्य करवाया जाना प्रस्तावित है।

अमरेश्वर महादेव ट्रस्ट के सचिव नंदलाल हर्ष ने बताया कि विभिन्न पूजा-पाठ, तर्पण एवं मूर्तियों के विसर्जन जैसे कार्यों में प्रयुक्त सामग्री  से लोगों की आस्था का प्रमुख केन्द्र हर्षोलाव तालाब बहुत-से कचरों से भर गया था। जिससे बारीश से पूर्व इसकी साफ-सफाई करवाना बहुत आवश्यक था। परम्परा संस्था के जल धरोहर संरक्षण अभियान से शहर एवं गांवों की जल धरोहरों को संरक्षित करने में सहायता मिलेगी।