बीकानेर। जिले की समस्याओं के निस्तारण करने में स्थानीय लोगों की सक्रिय भागीदारी के लिए स्मार्ट सिटीजन बीकानेर ऐप प्रारम्भ किया गया है। जिले के निवासियों की विकास में साझेदारी और उन्हें आपस में जोड़ने के लिए यह ऐप एक मंच के रूप में कार्य करेगा। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में इस ऐप को लाॅन्च किया।

गौतम ने बताया कि इस नवाचार का उद्देश्य शहर के पर्यावरण व सामाजिक वातावरण को बेहतर बनाने में समाज के लोगों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना है। जिले के विकास, पर्यावरण व सामाजिक सुधार के कार्य कर रहे व्यक्ति अपने द्वारा किए गए कार्य का विवरण, उपलब्धियां फोटो के साथ इस ऐप पर अपलोड कर सकते हैं। फोटो व विवरण के माध्यम से समाज की बेहतरी के लिए कार्य कर रहे व्यक्ति को जिला प्रशासन द्वारा पहचाना जा सकेगा। सिटीजन द्वारा किए गए प्रत्येक सामाजिक कार्य के लिए कुछ अंक दिए जाएंगे तथा उनके प्राप्त कुल अंकों के आधार पर नियमानुसार पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस ऐप पर राज्य सरकार की विभिन्न योजनाएं भी प्रदर्शित होंगी। नागरिक इन योजनाओं में अपनी इच्छानुसार कार्य कर सकते हैं।

जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में कई लोग समाज सुधार के लिए विभिन्न गतिविधियों करते हैं, परन्तु उन्हें पहचान के अवसर नहीं मिल पाते। इस ऐप के जरिए समाज के उत्थान के लिए सक्रिय लोगों को नई पहचान मिल सकेगी और अन्य लोग भी समाज के विकास में भागीदारी के लिए प्रेरित हो सकेंगे। इस ऐप पर शिक्षा, पुलिस, नगर निगम, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता सहित विभिन्न विभाग जुडे हैं।

गौतम ने बताया कि कोई भी व्यक्ति इस ऐप में बिना किसी शुल्क के रजिस्ट्रेशन कर सकता है। इसके लिए सिर्फ स्मार्ट फोन और इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होगी। कोई भी व्यक्ति प्ले स्टोर में स्मार्ट सिटीजन बीकानेर टाइप कर इसे डाउनलोड कर सकता है। इसमें लाॅगिन करने पर होम स्क्रीन पर कई योजनाएं प्रदर्शित होगी। व्यक्ति अपनी इच्छानुसार किसी भी योजना को चुन कर इसमें भाग ले सकता है। इसके लिए जिला प्रशासन नियमानुसार अंक प्रदान करेगा। सभी अंकों को मिलाकर उन अंकों के समकक्ष पुरस्कार का चुनाव व्यक्ति कर सकता है चुने हुए पुरस्कार से नागरिक को सम्मानित किया जाएगा। इस ऐप का लक्ष्य सामाजिक कार्यों के लिए प्रोत्साहन करना और सूचना और प्रौद्योगिकी का प्रयोग करते हुए विकास में आमजन की भागीदारी सुनिश्चित करना है। इस अवसर पर उपनिदेशक सूचना जनसम्पर्क विकास हर्ष तथा आईटी उपनिदेशक सत्येन्द्र सिंह राठौड़ सहित कई मीडिया प्रतिनिधि उपस्थित थे।