इसरो ने चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से जुड़ी एक बड़ी खुशखबरी दी है। इसरो के मुताबिक विक्रम सुरक्षित है और उसे कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। इसरो के अधिकारी ने कहा कि हम लैंडर के साथ संचार को फिर से स्थापित करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

बता दें कि शनिवार को चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर की दूरी पर लैंडर विक्रम का इसरो से संपर्क टूट गया था। उसके बाद से ही उससे संपर्क साधने की कोशिशें जारी है।

भारत में जापान के दूतावास ने कहा है कि 2020 में जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी इसरो के साथ मिलकर चंद्रमा ध्रुवीय खोज की शुरुआत कर सकती है। दूतावास ने कहा, “हम चंद्रयान 2 के लिए ISRO और उसके विज्ञानियों की सराहना करते हैं। हमें भरोसा है कि चंद्रमा पर खोज में भारत अपना योगदान जारी रखेगा। जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी तथा ISRO एक संयुक्त चंद्रमा ध्रुवीय खोज की योजना बना रहे हैं, जिसे वर्ष 2020 की शुरुआत में शुरू किया जाएगा।”