Websity

बीकानेर hellobikaner.com माहे रमजान के बाद आने वाली ईद-उल-फितर की नमाज इस बार ईदगाह में नहीं पढ़ी जाएगी। शहर काजी मुस्ताक अहमद ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी के कारण पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ है। जिला प्रशासन ने देश भर में लॉकडाउन के कारण सभी तरह के धार्मिक कार्यक्रमों को नहीं करने का आह्वान किया था।

इसलिए इस बीमारी को देखते हुए ईदगाह की वजह घरों में ही इबादत की जाएगी। इस तरह से मुस्लिम समाज भी प्रशासन के साथ लगातार सहयोग करता आ रहा है। ईदगाह कमेटी के संरक्षक हाफिज फरमान अली ने बताया कि जब से लॉक डाउन लगा है और प्रशासन ने कहीं भी इकठ्ठे होकर कोई धार्मिक कार्यक्रम नहीं करने की सलाह दी थी उसी बात को  ध्यान में रखते हुए सभी मुस्लिम समाज के लोग पूरे रमजान के महीने में घरों में बैठकर ही इबादत की थी।

इसी तरह ईद-उल-फितर की नमाज में चार नवफिल पढऩे के बाद इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए अल्लाह से दुआ की जाएगी और देश भर में इंसान पर आने वाली इस मुसीबत से और इस बीमारी से छुटकारा मिले इसके लिए दुआ की जाएगी।