हैलो बीकानेर। बीकानेर में वैसे तो समस्याओं का अंबार है लेकिन सबसे बड़ी और नासूर बन चूकी समस्या के बारे में जब हैलो बीकानेर ने बीकानेर की जनता से पूछा तो सामने आई ‘कोटगेट रेलवे फाटक की समस्याÓ। बीकानेर में सड़क, नाली, सीवरेज या आवारा पशुओं की समस्या से भी बड़ी समस्या अगर कोई है तो वो है ‘कोटगेट रेलवे फाटक की समस्याÓ…. कई सरकारे आई और चली गई कई वादे भी किए लेकिन ‘कोटगेट रेलवे फाटक की समस्याÓ का कोई समाधान आज तक नहीं हुआ है। कोटगेट रेलवे फाटक एक दिन में कई बार बंद होता है जिससे लोगो को परेशानी होती है ।

जब हैलो बीकानेर ने जनता से ‘कोटगेट रेलवे फाटक की समस्याÓ पर बात की तो बीकानेर की जनता ने साफ-साफ कहा कि इस समस्या से बीकानेर के हजारों नागरिकों को प्रतिदिन सामना करना पड़ता है। बीकानेर के सांसद अर्जुन मेघवाल हो या बीकानेर पूर्व विधायक सुश्री सिद्धि कुमारी व पश्चिम विधायक डॉ. बीडी कल्ला इस समस्या से सभी अवगत है लेकिन अभी तक इसका कोई समाधान नहीं हो पाया है। हैलो बीकानेर से बीकानेर की जनता ने एक ही बात कही न जाने कब होगा बीकानेर की सबसे बड़ी समस्या का समाधान….

दिपावली पर लगता है इस रोड़ पर बाजार
दिपावली के त्यौहार पर कोटगेट से लेकर केईएम रोड़ पर बाजार लगता है और खूब खरीदारी होती है। प्रशासन द्वारा दिपावली के दिनों में इस रोड़ पर वाहन जाने से रोक लगा दी जाती है लेकिन समस्या का समाधान फिर भी नहीं होता। इतनी भीड़ हो जाती है उपर से कोटगेट रेलवे फाटक बार बार बंद होता रहता है तो फिर जनता और व्यापारी दोनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

दिपावली के दिनों में सभी दुकानदार और व्यापारी ग्राहकों को आक्रशित करने के लिए अपनी दुकानों की सजावट भी करते है लेकिन इतनी भीड़ हो जाती है की उनकी यह सजावट कहीं नजर ही नहीं आती। प्रशासन द्वारा दिपावली के दिनों में इस रोड़ पर वाहन जाने से रोक लगाने के बाद जनता पैदल ही कोटगेट से केईएम रोड़ तक का सफर करती है और उस पर कोटगेट रेलवे फाटक जैसी बड़ी समस्या का सामना भी करना उनकी मजबूरी हो जाती है।