जयपुर (हैलो बीकानेर न्यूज़)। उर्जा ,जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी ,भू-जल ,कला ,साहित्य ,संस्कृति तथा पुरातत्व मंत्री एवं जैसलमेर जिले के प्रभारी मंत्री एवं ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे सरकारी नीतियों एवं फैसलों की क्रियान्विती समय सीमा में करवाया जाना सुनिश्चित करावें। इसमें किसी भी तरह की कोताही एवं शिथिलता बरतने पर सबंधित की जिम्मेदारी निर्धारित की जाएगी। उन्होंने विभिन्न योजनाओं में आवंटित लक्ष्यों को 31 मार्च तक हासिल करने पर विशेष जोर दिया।
डॉ. कल्ला शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में जैसलमेर विधायक रुपाराम , जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल , जिला कलक्टर नमित मेहता तथा पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग , पंचायत समिति जैसलमेर की प्रधान श्रीमती उषा सुरेन्द्रसिंह राठौड़ ,पूर्व जिला प्रमुख अब्दुला फकीर के साथ ही जनप्रतिनिधि एवं जिलाधिकारीगण उपस्थित थे।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि किसानों को सर्वोच्च प्राथमिकता से बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की जायें। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से जनकल्याणकारी योजनाओं की क्रियान्विती के जरिए आम आदमी को राहत पहुंचायी जाए। राज्य सरकार के स्तर की जन समस्याओं तथा बजट के बारे में जिला प्रशासन को अवगत कराऍं। उन्होंने विकास योजनाओं का बजट निर्धारित समय सीमा में व्यय करने और सीमांत क्षेत्र विकास योजनान्तर्गत स्वीकृत बजट खर्च कर जिले का चहुमुखी विकास करने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने महानरेगा में अधिकाधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कम समय में आम आदमी को राहत पहुंचाने वाले फैसले लिये है जिसमें  किसानों का ऋण माफ करने ,पेंशन राशि में बढोतरी के साथ ही कृषि कनेक्शन देने एवं आगामी पांच साल तक बिजली की दरें नहीं बढाने के संबंध में है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस क्षेत्र में सर्वोच्च प्राथमिकता से कार्य कर लोगों को राहत पहुंचानी है।
उन्होेंने जलदाय विभाग केे अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिले में पेयजल आपूर्ति व्यवस्था को सर्वोच्च प्राथमिकता दें एवं लोगों को समय पर पीने का पानी उपलब्ध हो उसके लिए टीम की भावना से फील्ड में कार्य करें। उन्होेंने नए नलकूपों को खोदने के लिए निजी रिग की व्यवस्था कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने अभाव की स्थिति में पेयजल परिवहन की कार्ययोजना तैयार कर उसको लागू करने तथा यहां के क्षेत्रफल को ध्यान मंथ रखते हुए अतिरिक्त वाहनों व श्रम की स्वीकृति दिलवाने का भी विश्वास दिलाया। उन्होंने पोकरण-फलसूण्ड पेयजल योजनान्तर्गत कार्य शीघ्र पूर्ण करवा कर गांवों को नहर का मीठा पानी उपलब्ध कराने के निर्देश प्रदान किए। उन्होंने विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि वे स्वीकृत जी.एस.एस के कार्य को शीघ्र चालू करावें।
प्रभारी मंत्री ने कहा कि यह जिला अभाव घोषित है इसलिए यहां के पशुधन को बचाना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने पशुधन के चारे के लिए चारा डिपो की स्वीकृति करवाने के साथ ही जरुरत के अनुरुप पशु शिविर की स्वीकृति के लिए भी विश्वास दिलाया। उन्होंने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को स्वाईनफ्लू के साथ ही अन्य बीमारियों के प्रति चौकस रहने व समय पर उपचार करवाने के निर्देश दिए।
जैसलमेर विधायक रुपाराम ने प्रभारी मंत्री को पेयजल आपूर्ति व्यवस्था को सुचारु करवाने के लिए अतिरिक्त धनराशि ,वाहन एवं श्रमिकों की स्वीकृति तथा रिग मशीन की उपलब्धता करवाने की बात कही। उन्होंने मोहनगढ़ ,झिनझिनयाली में स्वीकृत 132 के.वी.जी.एस.एस के लिये भूमि आवंटन कराने पर बल दिया।
जिला कलक्टर नमित मेहता ने विश्वास दिलाया कि प्रभारी मंत्री ने जो दिशा-निर्देश प्रदान किए है उनकी पूरी पालना की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले में राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का प्रभावी क्रियान्विती के साथ पेयजल ,चारे तथा रोजगार के पुख्ता प्रबंध किए जाएगें। उन्होंने जिला अस्पताल के लिए एक एनएसथिसीया चिकित्सक की स्वीकृति करवाने की बात कही। जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग ने जिले की कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था के बारे में अवगत कराया व बताया कि यहां कानून की स्थिति सही ढंग से है।
जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल एवं पूर्व जिला प्रमुख अब्दुला फकीर ने पोकरण क्षेत्र में पेयजल प्रोजेक्ट के कार्य को तीव्र गति से कराने , सांकड़ा क्षेत्र में विद्युत वॉल्टेज सुधार के लिए जी.एस.एस की स्वीकृति करवाने , पशु शिविर व चारा डिपो शीघ्र खुलवाने तथा पशुशिविरों के लिए आपदा के नियमों में परिवर्तन कराने की आवश्यकता  जताई। उन्होंने महानरेगा में सामग्री मद की राशि आवंटित करवाने एवं कार्य अधिक संख्या में स्वीकृत करवाने पर जोर दिया। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामेश्वरलाल मीणा ने महानरेगा के साथ ही विकास कार्यो की प्रगति की विस्तार से जानकारी दी। वहीं पेयजल ,विद्युत ,चिकित्सा ,सड़क विभाग के अधिकारियों ने उनके विभाग में संचालित योजनाओं एवं कार्यो की जानकारी दी।