जयपुर (हैलो बीकानेर न्यूज़) । ऊर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री बी डी कल्ला ने कहा कि किसानों व उपभोक्ताओं को बेहतर गुणवता की बिजली उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। ऊर्जा मंत्री शुक्रवार को जोधपुर डिस्कॅाम के न्यू पॅावर हाऊस स्थित सभागार में जोधपुर डिस्कॅाम, राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम व जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गुणवतापूर्ण बिजली देने के पूरे प्रयास हो।
 
ऊर्जा मंत्री ने बैठक में कहा कि विद्युत उपभोक्ताओं के हितों का पूरा ध्यान रखा जावे। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं की शिकायतों को गंभीरता से सुनकर उनका समय पर समाधान किया जावे। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं के साथ सही व्यवहार रखा जावे। उन्होंने कहा कि अधिकारी सरकार का चेहरा होता है, उनके व्यवहार से ही सरकार की छवि का आकंलन होता है।
 
बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जनप्रतिनिधि जनता का प्रतिनिधित्व करते है। उनके दिए सुझावों पर गंभीरता बरती जावें व शिकायतों का समय पर निस्तारण किया जावे। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के हितों को देखते हुए इस वर्ष 1 लाख कृषि कनेक्शन जारी किए जाने का लक्ष्य रखा है। इससे किसानों को राहत मिलेगी।
 
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि तकनीकी कर्मचारी विद्युत लाइनिंग का कार्य करते समय सुरक्षा उपकरणों का अनिवार्य रूप से उपयोग करेे। कठिन कार्यो के समय कनिष्ठ अभियंता भी अवश्य मौके पर उपस्थित रहे।
 
उन्होंने कहा कि चूरू व ऎसे जिले जहां अत्यधिक सर्दी पड़ती है। पारा शून्य से भी नीचे रहता है उस समय वहां किसानों को रात्रि के बजाय दिन में कृषि कार्यो को बिजली दी जावे तो उनके लिए राहत वाला कार्य होगा।
 
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि राजस्व वसूली पर पूरा ध्यान दिया जावे। जिन विभागों में बकाया है उनसे वसूला जावे व जिन विभागों की देनदारी है उनको भी चुकता करें। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जहां विद्युत भार अधिक होने से विद्युत आपूर्ति सुचारू व गुणवतावाली नहीं हो तो वहां विद्युत भार कम करने के लिए नये जी एस एस बनाने के प्रस्ताव तैयार करावें ताकि उपभोक्ताओं को राहत मिले। उन्होंने विद्युत तंत्र में सुधार करने के लिए निरन्तर निगरानी रखने की आवश्यकता जताई। उन्होंने ट्रांसमिशन लोसेज में कमी लाने, सौर व पवन ऊर्जा उत्पादन पर विशेष ध्यान देने, सौलर पंप से किसानों को जोड़ने पर जोरे देने को कहा।
 
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने पांच वर्ष तक बिजली दरों को नही बढाने का महत्वपूर्ण व उपभोक्ता हित का निर्णय लिया है।
 
बैठक में प्रबंध निदेशक जोधपुर डिस्कॅाम सुमेरसिंह यादव ने जोधपुर डिस्कॅाम की प्रगति के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि डिस्कॅाम के क्षेत्र में 55 कस्बे, 14 हजार 148 गांव, 400 सौ के वी के 7, 220 के वी के 43 व 132 के वी के 147, 33 के वी के 2127 विद्युत सब स्टेशन, 33 के वी के 950 फीडर व 11 के वी के 10 हजार 71 फीडर है व 1074 मासिक राजस्व प्राप्ति होती है। उन्होंने बताया कि डिस्कॅाम के 37.59 लाख उपभोक्ता है जिसमंे 30.56 लाख घरेलू व 2.96 लाख गैर घरेलू, 0.42 लाख औद्योगिक, 3.28 लाख कृषि व 0.37 लाख अन्य उपभोक्ता है।
 
उन्होंने बैठक में डिस्कॅाम की विभिन्न योजनाओं के चल रहे कार्यो की प्रगति के बारे में जानकारी दी।