हैलो बीकानेर। आंधियों में धूल मिट्टी से प्रदूषित हुई खाद्य सामग्री बेचने वाले विक्रेताओं पर स्वास्थ्य विभाग ने नकेल कसने की तैयारी कर ली है। जिले में गत कई दिनों से आंधियों और बवंडरों का दौर जारी है। आँधियों के कारण धूलकण व उसके साथ घुली गंदगी खाने-पीने की खुली सामग्रियों पर निरंतर गिरती रहती हैं जिससे खाद्य सामग्रियां दूषित हो रही है। इसका संज्ञान लेते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार से विभिन्न दलों का गठन कर उक्त स्थलों एवं विक्रेताओं का चिन्हीकरण किया जाएगा। दूषित सामग्री को नष्ट करने के साथ आवश्यक कानूनी कार्यवाही भी अमल में लाई जावेगी।

आमजन बरतें एहतियात
सीएमएचओ डॉ. देवेंद्र चौधरी ने बताया कि ना सिर्फ विपणन के समय बल्कि खाद्य सामग्री के निर्माण के समय भी उन्हें धूल मिट्टी व गंदगी से बचाए रखना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने आमजन से भी अपील की वे आंधी को लेकर पूरी एहतियात बरतें और विभिन्न स्थानों पर खुले में रखकर बेचे जा रहे दूषित खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें। ऐसे परचून के सामान भी ना खरीदें जो खुले में रखने से प्रदूषित हो गए हों। जिन्हें श्वास सम्बन्धी समस्याएँ हों उन्हें पूरा बचाव रखना चाहिए और खुले में निकलते समय मास्क या रुमाल का उपयोग करना चाहिए।

प्रायः यह देखने में आया है कि बीकानेर शहर एवं जिले के कई कस्बों में खाद्य सामग्री यथा कचैड़ी, पकौड़ी, पानी पुरी, डोसा व जलेबी जैसे खाद्य पदार्थों को खुले में रख कर बेचा जा रहा है यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है तथा भीषण गर्मी के इस मौसम में काफी खतरनाक भी हो सकता है। किसी को भी आमजन की सेहत से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दी जाएगी।

LEAVE A REPLY