बीकानेर/नापासर। गुरूवार रात नापासर के पट्टा बास में रहने वाले बजरंगलाल जोशी व उसकी पत्नी रामकन्या फांसी का फंदा बनाकर झूल गए। जिससे दोनों की मौत हो गई। बजरंगलाल जोशी के घर वाले शुक्रवार सुबह जब उठे तब इस घटना का पता चला तो उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई।

बजरंगलाल अपने माता-पिता व अपने दो पुत्रों के साथ रहता था। शुक्रवार की सुबह जब बजरंग व उसकी पत्नी अपने कमरे से बाहर नहीं निकले तो बजरंगलाल के पिता सोहनलाल ने अपने पौते को दरवाजा खटखटाने के लिए भेजा। जब दरवाजा खुला तो बजरंगलाल व उसकी पत्नी को फांसी के फंदे पर झूलता देख घर के सभी सदस्य घबरा गए। परिवार में कोहराम मच गया।

बीकानेर : अनुपस्थित मिले अधिकारी व कार्मिक तो अब हो होगी मुश्किल

बीकानेर : फीस हड़पने वाले कोचिंग सेंटर संचालक के विरुद्ध कार्यवाही की मांग

बीकानेर : लापरवाही बरतने पर 18 बीएलओ को कारण बताओ नोटिस

थानाधिकारी संदीप बिश्नोई ने बताया कि मृतका रामकन्या के पीहर वालों को सूचना दी। जब मृतका के पीहर पक्ष वाले आए तो पुलिस ने दोनों के शवों को नीचे उतार कर अस्पताल की मोचरी में रखवाया। दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।