प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने एयर इंडिया की 100 प्रतिशत सहायक कंपनी मेसर्स एलायंस एयर के विभाजन को पूर्व-प्रभाव से अपनी मंजूरी दे दी है। मेसर्स एलायंस एयर द्वारा न्‍यूनतम 20 विमानों अथवा कुल क्षमता के 20 प्रतिशत विमानों की तैनाती होने तक, घरेलू संचालन के लिए जो अधिक हो, अंतरिम अवधि के लिए एक विशेष विभाजन को मंजूरी दी गई है।

भारत और श्रीलंका एक-दूसरे के साथ निकटता से जुड़े हैं तथा दोनों देशों के बीच संपर्कता बढ़ाने के साथ-साथ जन-जन के बीच संपर्क का विस्‍तार करना हमारे हित में है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, भारत की राजनीतिक एवं रणनीतिक हितों के लिए देश के दक्षिणी हिस्‍से से पालाली तथा बट्टीकलोवा महानगरों (उत्‍तरी तथा पूर्वी श्रीलंका) तक उड़ानों की शुरूआत करने का प्रस्‍ताव महत्‍वपूर्ण है। इस स्‍वीकृति से पूर्व, पालाली तथा बट्टीकलोवा हवाई अड्डों से कोई वाणिज्यिक संचालन निर्धारित नहीं था।