बीकानेर। आत्म सुरक्षा वर्तमान समय की आवश्यकता है, और महिलाओं के लिए तो महत्ती ही आवश्यक है। यह बात पुलिस उप-अधीक्षक, श्रीडंूगरगढ़ जगदीश चन्द्र बोहरा ने सेसोमंू गर्ल्स कॉलेज में आयोजित जूडो-कराते प्रशिक्षण शिविर के समापन अवसर पर छात्राओं को सम्मानित करते हुए कहीं। उन्होने कहा कि वर्तमान युग में महिलाओं और बालिकाओं आत्मरक्षा के लिए प्रशिक्षण बहुत ज्यादा जरूरी है। इसके तहत नारी अपने आप को सक्षम महसूस कर सकती है।
02

03
कॉलेज प्राचार्य डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि श्रीडंूगरगढ़ कस्बे की एकमात्र कन्या महाविद्यालय सेसोमूं गर्ल्स कॉलेज में शनिवार को जुडो-कराते का प्रशिक्षण लेने वाली 25 बालिकाओं को मेडल प्रदान कर सम्मनित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि उप-अधीक्षक, श्रीडंूगरगढ़ जगदीश चन्द्र बोहरा थे। इस अवसर पर सेसोमूं के कराते प्रशिक्षक नरेन्द्र ने कहा कि स्कूल तथा कॉलेज की छात्राओं के लिए सरकार को इस प्रकार के आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम उनके पाठ्यक्रम में लागू करना चाहिए, जिससे छात्राएं अपने भावी जीवन में आने वाली कठिनाइयों का सामना कर सकें। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने कहा देश में महिलाओं व बालिकाओं में होने वाले अत्याचारों से बचने के लिए उन्हें स्वयं को सशक्त बनना होगा और सशक्त बनने के लिए महाविद्यालयों में इस प्रकार के आत्मरक्षा प्रशिक्षणों का समय समय पर आयोजित होना अनिवार्य है। कार्यक्रम का संचालन महाविद्यालय की व्याख्याता मनीषा विश्वकर्मा ने किया, इस अवसर पर महाविद्यालय का समस्त स्टाफ उपस्थित था।

LEAVE A REPLY