कोलकाता। रामनवमी के दिन से आसनसोल में शुरू हुई हिंसा के बाद शवों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। गुरुवार रात को भी एक शव बरामद हुआ है। रेल पार इलाके से पुलिस ने एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति का शव बरामद किया है। मृतक के कपड़े से पता चल रहा है कि व्यक्ति रामनवमी की शोभायात्रा में शामिल था। रेल पार के सुनसान पड़े इलाके में मिले शव के शरीर पर धारदार हथियार से हमले के कई निशान मौजूद हैं। हालांकि उक्त व्यक्ति की पहचान अभी तक नहीं हो सकी है। पुलिस की ओर से बताया गया है कि जल्दी इसकी पहचान कर ली जाएगी। बुधवार को भी एक नाबालिक बच्चे का शव बरामद किया गया था। उसके बारे में पुलिस ने बताया था कि शोभायात्रा में मची भगदड़ के बाद संभव है भीड़ में दबकर बच्चे की मौत हुई है हालांकि उसके शरीर पर भी हथियार से मारने के निशान मिले थे। अब तक आसनसोल में 4 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है और सभी मामलों में शव पर धारदार हथियार से हमले के निशान मिले हैं। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को रामनवमी की शोभायात्रा पर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने बम से हमला कर दिए थे। अचानक हुए इस हमले के बाद रैली में भगदड़ मच गई थी और बाद में इलाके में तनाव फैल गया था। राज्य सरकार के दबाव में हाथ पर हाथ धरे पुलिस की मौजूदगी में दंगाइयों ने शोभायात्रा में शामिल लोगों व उनके घरों में जमकर हमला किया था। महिलाओं तक को नहीं बख्शा गया है। हजारों लोग घर छोड़कर शिविर में रहने को मजबूर हैं एवं लाखों की संख्या में लोगों ने आसनसोल एवं रानीगंज से पलायन कर अपने-अपने पैतृक निवास यूपी, बिहार और झारखंड में कूच किया है। इलाके में अभी भी तनाव तो है पर पुलिस गस्ती के कारण शांति है। शुक्रवार को जुम्मा का दिन होने के कारण पुलिस अत्याधिक सतर्कता बरत रही है। आसनसोल स्टेशन पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। हालांकि स्थानीय लोगों में डर का माहौल बना है। बच्चों का स्कूल जाना भी बंद कर दिया है एवं हिंदू परिवारों का आरोप है कि पुलिस अभी भी घरों में घुसकर तलाशी ले रही है एवं जो भी सामने मिल रहा है उसे गिरफ्तार कर रहे हैं। कई छात्रों को भी गिरफ्तार कर दंगा फैलाने के मामले में केस दर्ज कर लिया है जिसके कारण उनका भविष्य अधर में लटका हुआ है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY