बीकानेर। बार्डर एरिया डवलपमेंट कार्यक्रम (बीएडीपी) के तहत वर्षों से अनुदान मिलने तथा  लाखों रुपए व्यय करने के बावजूद योजना के तहत चयनित ग्राम पंचायतों में आधारभूत व सामाजिक सुविधाओं की कमी है। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व अधिकारियों की बैठक में योजना में क्रियान्वयन के स्तर पर हो रही लापरवाही पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा कि बीएडीपी योजना के माध्यम से जिले की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा से जुड़ी ग्राम पंचायतों में आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए अतिरिक्त सहायता प्रदान की जाती है इसके बावजूद अब तक इन ग्राम पंचायतों में स्थिति जस की तस क्यों बनी हुई है। उन्होंने कहा कि योजना के तहत गड़बड़ियों की शिकायतें मिली है। सम्बंधित अधिकारियों को इस सम्बंध में जांच के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि बीएडीपी के तहत चल रहे कार्यों का आवश्यक रूप से निरीक्षण तथा जांच कर रिपोर्ट दें। यदि गड़बड़ी पाई जाती है तो सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें।