साल 2018 का पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी को पडने जा रहा है। चंद्रग्रहण क्यों पडता है पहले इस के बारे में जानते है जब सूर्य और चंद्रमा के बीच में पृथ्वी आ जाती है। उस समय पृथ्वी के आने के कारण से चंद्रमा पर सूरज की किरणें पड़ने से रुक जाती हैं। इस कारण चंद्रमा की छाया दिखती है जिसे चंद्रग्रहण कहते हैं। इस साल का पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी की शाम को 5.58 मिनट पर शुरू हो रहा है और यह रात 8.41 बजे तक रहेगा। भारत के ज्यादातर हिस्सों में दिखाई देने के साथ साथ यह उत्तर पूर्वी रूस, एशिया, अमेरिका, अफ्रीका व ऑस्ट्रेलिया में भी दिखाई देगा।

इस दिन माघ के महीने की पूर्णिमा भी है। हम आप को बता दें कि 35 सालों बाद ऐसा हो रहा है। पुराणों और शास्त्रों में चंद्रग्रहण के समय कुछ चीजों को वर्जित किया गया है। आज हम इस के विषय में बात करने जा रहे हैं।

– जो महिलाएं प्रेग्नेंट हैं वे ध्यान रखें चंद्रग्रहण के समय घर से बाहर ना निकलें, इस के साथ ही ग्रहण के समय नुकीली वस्तुओं का प्रयोग ना करें जैसे- सुईं, कैंची, चाकू आदि।

-चंद्रग्रहण के समय खाना नहीं खाना चाहिए। चंद्रग्रहण शुरू होने से पहले या फिर खत्म होने के बाद खाना खायें।

-चंद्रग्रहण के समय कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए। चंद्रग्रहण के समय भगवान की पूजा अर्चना ना करें। मान्यता है कि ग्रहण के समय मंदिर के दरवाजे भी बंद रखें जाते है।