नोखा में शुक्रवार को हुआ था हादसा 

हैलो बीकानेर न्यूज़/नोखा। नोखा में शुक्रवार को बारिश के चलते वार्ड 22 में एक मकान धाराशायी हो गया था। इस धाराशायी हुए मकान के नीचे एक बच्ची व बच्ची की मां दब गये थे। नोखा में भारी बारिश के बाद जमीन धंसने से एक मकान धराशायी हो गया। इस धाराशायी हुए मकान के मलबे के नीचे तारा देवी व उसकी बेटी माया मलबे में दब गई।

WhatsApp ग्रुप के एडमिन को WhatsApp ने दिया ये अनोखा अधिकार, लॉन्च किया ये खास फीचर

मां तारा देवी को शुक्रवार की शाम को मृत अवस्था में निकाला गया। वहीं प्रशासन को आज दोपहर बच्ची भी मिल गई। हालांकि बच्ची को बचा नहीं सके। मृत अवस्था में नोखा अस्पताल ले जाया गया जहां पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

 मलबे में 25 फुट निचे मिला बच्ची का शव,
मलबे में 25 फुट निचे मिला बच्ची का शव,
 कस्बेवासियों के मुताबिक जिस क्षेत्र में यह हादसा हुआ है, वह क्षेत्र बजरी की खानों का है। यहां भूमाफियाओं ने कब्जे कर मकान बना लिए हैं। आननफानन में खान में मिट्टी की भराई कर बनाए गए मकान जरा सी बारिश आने पर ढहने लगते हैं। लालच की वजह से लोग यहां रह रहे हैं। अगर प्रशासन ने जल्दी ही यहां से मकान खाली नहीं कराए तो आने वाले दिनों में ऐसे कई हादसे सामने आ सकते हैं।

 

नोखा थानाधिकारी मनोज शर्मा के अनुसार चार वर्षीय माया व मां तारा देवी जो कि कल मकान धंसने के कारण मलबे में दब गई थी। मां तारा देवी का शव शुक्रवार की शाम का काफी मशक्कत के बाद निकाला गया। जहां शव को मोर्चरी रखवाया हुआ है। वहीं आज दोपहर प्रशासन को बच्ची भी मिल गई। करीबन 25-30 फीट की खुदाई में बच्ची मिली है। पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये ले जाया गया है।

LEAVE A REPLY