हैलो बीकानेर, लूनकरनसर। बीकानेर के एक यूवा नेता के खिलाफ कुटरचित दस्तावेजों से फर्जीवाड़ा कर कृषि विभाग की आत्मा परियोजना में किसान प्रशिक्षण के नाम पर सरकार के लाखों रूपए हङपने के एक ओर मामले में न्यायालय ने पूर्व में दर्ज मुकदमे शामिल करतें हुएं लूणकरणसर पुलिस को जांच के आदेश दिएं है।
लूणकरणसर पुलिस थाना के ए एस आई बजरंगलाल ने बताया कि पूर्व में 09 अक्टूबर को बीकानेर निवासी विनोद कुमार भाटी के परिवाद पर न्यायालय अपर मुख्य न्यायाधीश के आदेशानुसार राजेन्द्र मूंड पुत्र गोपालराम मूंड निवासी मूंड मार्केट तिलकनगर बीकानेर के खिलाफ धारा 418,420,467,468,471 व 120 बी में इस्तगासे के माध्यम से पुलिस थाना में मुकदमा दर्ज हुआ था। परिवादी ने आरोपी के खिलाफ एक ओर ग्राम पंचायत कालू के 19 काश्तकारों के फर्जी नाम अंकित कर 24,25 जनवरी 2013 को प्रशिक्षण बताकर सरकारी धन हङपने के आरोप लगाते हुएं न्यायालय में वाद पेश किया।
न्यायालय ने पूर्व मामले में शामिल करतें हुएं प्रकरण की जांच करने के आदेश दिएं है। सूचना के अधिकार के तहत मिले दस्तावेजों के माध्यम से पता चला है कि आरोपी ने कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर मरूभूमि सेवा एंव अनुसंधान संस्थान द्वारा आत्मा परियोजना में मर्दा परीक्षण हेतु अनुबंध कर किसान प्रशिक्षणो में षडयंत्र पूर्वक फर्जीवाड़ा कर लाखों रूपये सरकारी धन हङपने का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़े : परिणीति ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए कहे अपशब्द

उन्होंने बताया कि संस्थान महासचिव राजेन्द्र मूंड ने संस्थान द्वारा आत्मा कैफिटेरियल गतिविधियां के अन्तर्गत  दो दिवसीय ट्रेनिंग कार्यक्रम 24 से 25 जनवरी 2013 को  लूनकरनसर  के ग्राम कालू के 19 किसानों को लूणकरणसर के ए टी सी हॉल में प्रशिक्षण करवाकर सरकारी रूपये उठाएं है लेकिन ग्राम पंचायत से सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार संस्थान द्वारा  कालू के किसानों को दिये प्रशिक्षण की सूची फर्जी है उसमें कालू गांव का एक भी नाम नही है लेकिन संस्थान ने फर्जी बिल बनाकर भुगतान उठाया है।