सादुलपुर (मदन मोहन आचार्य) संपूर्ण राजस्थान में अलवर जिले के गांव गुरगचका का परचम लहराने वाले ब्राह्मण रतन से सम्मानित कांग्रेस के स्वच्छ छवि के कद्दावर नेता प्रशांत शर्मा का लंबी बीमारी के चलते स्वर्गवास हो गया उन्होंने 25 दिसंबर को अंतिम सांस ली शर्मा के निधन की खबर सुनते ही गांव में शोक की लहर दौड़ गई गुरगचका गांव के अंदर अंतिम संस्कार कियाl शर्मा अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ कर गए हैंl

ध्यान रहे कि स्वर्गीय प्रशांत शर्मा अलवर के युवा समाजसेवी पंडित आशीष शर्मा प्रदेश सचिव राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय आयोग संस्था के प्रदेश सचिव के राजनेतिक गुरु व बड़े भाई थेl

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पंडित प्रशांत शर्मा एक समाजसेवी एवं भामाशाह के रूप में थी 2005 में सरपंची के चुनाव लड़े जिसमें विजय हुए तत्पश्चात उनको कोटकासिम का सरपंच संघ का अध्यक्ष चुना गया सरपंच के कार्यकाल में रहते हुए उन्होंने गुजरात के राज्यपाल पंडित नवल किशोर शर्मा को छोटे से गांव गुरगचका गांव में शहीद राजेंद्र प्रसाद शर्मा की मूर्ति का अनावरण करवा कर एक अलग पहचान दिलवाई बाद में उन्हें ब्राह्मण रत्न से सम्मानित किया गया कांग्रेस के अलवर जिले में महासचिव पद पर रहते हुए उन्होंने एक कद्दावर नेता के रूप में कार्य किया एवं ब्राह्मण महासभा के प्रदेश संयोजक नियुक्त हुए एवं खैरथल ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष भी रहे! उनकी सेवाओं को कभी भुलाया नहीं जा सकताl

अखिल भारतीय पुष्टिकर सेवा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश सी पुरोहित प्रदेश संयोजक अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष पवन जोशी एवं स्वतंत्र पत्रकार मदन मोहन आचार्य ने वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पंडित प्रशांत शर्मा के असामयिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए ईश्वर से प्रार्थना की है कि दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें और शोकाकुल शर्मा परिवार को धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करेंl