संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में रात 12 बजे घंटे की आवाज के साथ देश में जीएसटी लागू हो जाएगा। जीएसटी लागू होने के मौके पर केंद्रीय कक्ष में होने वाले कार्यक्रम में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई राज्यों के मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री हिस्सा लेंगे। इस मौके पर कई फिल्मी सितारें और बड़ी हस्तियां भी मौजूद होंगी। जीएसटी लागू होने के जश्न के लिए संसद भवन को दुल्हन की तरह सजाया गया है। केंद्रीय कक्ष में भी तैयारियां पूरी हो चुकी है। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार की निगरानी में जीएसटी लागू करने का अभ्यास भी हो चुका है। मुख्य कार्यक्रम में ठीक 12 बजे घंटा बजेगा, जो यह बताएगा कि जीएसटी लागू हो गया है।

रात 11.30 बजे से 12.5 बजे तक चलने वाले इस कार्यक्रम के दौरान दो शार्ट फिल्में भी दिखाई जाएगीं। इसके लिए केंद्रीय कक्ष में दो बड़ी-बड़ी स्क्रीन भी लगाई गई हैं। इस मौके पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री एक एप भी जारी करेंगे। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रम में शामिल लोगों को संबोधित करेंगे, इसलिए केंद्रीय कक्ष के साउंड सिस्टम को भी बदला गया है। संसद के दोनों सदनों के सांसदों सहित करीब 1500 लोगों के हिस्सा लेने की उम्मीद है।
जीएसटी के कार्यक्रम के लिए संसद भवन को एलईडी बल्बों से रोशन किया गया है। माइक्रो सेंड तकनीक से संसद भवन के खंभों को साफ किया जा रहा है, ताकि इमारत को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचे।
शुक्रवार की रात घड़ी की सुइयां जैसे ही 12 बजाएंगी, पूरे देश में नए टैक्स सिस्टम गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) का आगाज हो जाएगा। कुछ ऐसी जगहें हैं जहां इसका असर तुरंत नजर आएगा। मसलन, अगर कोई देर रात रेस्तरां में खाना खाने गया और बिल 1 जुलाई की तारीख में तैयार हुआ तो उसे सर्विस टैक्स नहीं बल्कि जीएसटी देना होगा। देखते हैं, वैसे कुछ मामले जहां जीएसटी का सबसे पहले असर होगा ।

 

LEAVE A REPLY