जिला प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक आयोजित
हैलो बीकानेर,। फ्लेगशिप योजनाओं की प्रगति समीक्षा बैठक शनिवार को जल संसाधन मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री डाॅ. रामप्रताप की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के शत-प्रतिशत कार्य 30 जून तक पूरे कर लिए जाएं। इसमें किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
प्रभारी मंत्री ने कहा कि अगले सात दिनों तक एमजेएसए से संबंधित अधिकारी नियमित फील्ड विजिट करें। प्रगति की दैनिक सूचना उपलब्ध करवाई जाए। प्रत्येक स्तर पर माॅनिटरिंग हो तथा यह सुनिश्चित किया जाए कि 30 जून के बाद कोई भी कार्य वंचित नहीं रहे। बैठक के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तथा पीबीएम अधीक्षक ने बताया कि पुलिस एवं अस्पताल के समस्त अधिकारी-कर्मचारी एक-एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के लिए देंगे। वहीं, उपवन संरक्षक ने वन विभाग के अधिकारियों द्वारा दो तथा कर्मचारियों भी एक दिन का वेतन अभियान हेतु देने की जानकारी दी। जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने भी समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को भी स्वेच्छा से एक-एक दिन का वेतन एमजेएसए के लिए देने का आह्वान किया।
प्रभारी मंत्री ने अभियान के पहले चरण में किए गए पौधारोपण का भौतिक सत्यापन करवाने के निर्देश दिए तथा दूसरे चरण के पौधारोपण से जुड़ी समस्त तैयारियां करने को कहा। उन्होंने कहा कि सभी पूर्ण कार्यों को अपलोड कर दिया जाए। ग्रामीण विकास एवं जलग्रहण के कार्यों में और अधिक गति लाने के निर्देश दिए। बैठक में भामाशाह, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, मुख्यमंत्री राजश्री योजना की प्रगति समीक्षा की गई। उन्होंने आयरन टेबलेट वितरण कार्यक्रम की प्रभावी समीक्षा के निर्देश दिए। ग्रामीण एवं शहरी गौरव पथ का निर्माण नाॅम्र्स के अनुसार करने को कहा।
डाॅ. रामप्रताप ने कहा कि मुख्यमंत्री विद्युत सुधार अभियान के तहत चयनित गांवों में विद्युत छीजत में कमी आए तथा विद्युत चोरी रोकने की दिशा में प्रभावी कार्रवाई की जाए। उन्होंने शहरी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की तथा कहा कि इमरजेंसी सेवाओं वाले क्षेत्रों में अधिकतम निर्बाध विद्युत मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। न्याय आपके द्वार के तहत आयोजित शिविरों की प्रगति जानी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण पट्टा वितरण शिविर तथा मुख्यमंत्री शहरी जन कल्याण शिविर के तहत हुए कार्यों पर असंतोष जताया तथा इनमें गति लाने के निर्देश दिए।
प्रभारी मंत्री ने आदर्श तथा उत्कृष्ट विद्यालयों की स्थिति जानी तथा विद्युत कनेक्शन से वंचित जिले के 29 विद्यालयों में अतिशीघ्र कनेक्शन के निर्देश दिए। लक्ष्य के अनुसार शत-प्रतिशत मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित करने को कहा। उन्होंने संपर्क पोर्टल के लंबित एवं निस्तारित प्रकरणों की समीक्षा की तथा नाॅम्र्स के अनुसार भ्रमण, जनसुनवाई और रात्रि विश्राम करने के निर्देश दिए। उन्होंने ई-पालनहार, ई-पेंशन की प्रगति समीक्षा, डिग्गियों के वंचित अनुदान तथा ओलावृष्टि के दौरान सहायता के प्रकरणों की जानकारी ली।
संसदीय सचिव डाॅ. विश्वनाथ मेघवाल ने कहा कि संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में भी आरएसएलडीसी के प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने, अधिक से अधिक निजी चिकित्सालयों को भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से जोड़ने, सरकारी स्कूलों के प्रवेशोत्सव के दौरान घर-घर संपर्क करने, मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान तथा गौरव पथ के कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अंतिम छोर तक बैठे व्यक्ति को फ्लेगशिप योजनाओं का लाभ मिले, इस दिशा में कार्य किया जाए।
जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने बताया कि एमजेएसए के पहले चरण में 3 हजार 566 कार्य हुए तथा 71 हजार 667 पौधे लगाए गए। दूसरे चरण में अब तक 26 गांवों में 3 हजार 256 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। मुख्यमंत्री राजश्री योजना के तहत 22 हजार 251 बालिकाओं के जन्म पर पहली राशि प्रदान कर दी गई है। पहले चरण में 50 ग्रामीण गौरव पथ बनाए गए, वहीं दूसरे चरण में 59 में से 35 का कार्य पूर्ण हो चुका है। जिले में 290 आदर्श तथा 273 उत्कृष्ट विद्यालय स्थापित किए जा चुके हैं।
बैठक में श्रीडूंगरगढ़ विधायक किसनाराम नाई, नगर निगम आयुक्त आर. के. जायसवाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) यशवंत भाकर, अतिरिक्त कलक्टर (नगर) शैलेन्द्र देवड़ा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डाॅ. राकेश कुमार शर्मा, महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक रचना भाटिया, नगर निगम उपायुक्त ताज मोहम्मद, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) डाॅ. लाल चंद कायल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। फोटो : राजेश छंगाणी

LEAVE A REPLY