पत्रकार कमलेश शर्मा की कलम से स्पेशल रिपोर्ट…..
————————————–

लगातार हार के बाद परिवर्तन का सूत्र लगाने की तैयारी…..

पैराशूट प्रत्याशी के चलते भाजपा को लगती है पटकनी, वर्तमान में भी विरोध जारी………

राजस्थान विधानसभा चुनाव की सरगर्मी चारों ओर फैली है चाहे चाय की दुकान हो या फिर गली का नुक्कड़ हो हर जगह सिर्फ चुनाव की ही चर्चा है पार्टी के कार्यकर्ता टिकटों को लेकर अपनी पार्टी के आलाकमान ओं की जी हजूरी में लगे हैं तो वहीं निर्दलीय प्रत्याशी बनने वाले जनता के बीच अपना सिक्का जमाने की जुगत में लगे हैं बात करें जयपुर के सबसे नजदीक आमेर विधानसभा क्षेत्र की तो कांग्रेस हो या भाजपा पार्टी हो दोनों के लिए यहां से प्रत्याशी चुनना इस बार बड़ा ही असमंजस का विषय है क्योंकि बात करें पिछले चुनाव की तो दोनों ही पार्टियों ने यहां से मात खाई है| और अगर बात की जाए पूरे समीकरणों की तो जहां कांग्रेस पार्टी ने लगभग लगभग हर चुनाव में स्थानीय लोगों को मैदान में उतारा तब तब चुनाव जीता है तो वहीं भाजपा पार्टी पिछले 20 सालों से पैराशूट प्रत्याशियों को उतारकर हार का सामना कर रही है|

आपको बता दें कि 20 साल पूर्व भाजपा पार्टी ने स्थानीय प्रत्यासी गोपी राम को उतारा था जिसकी वजह से भाजपा पार्टी ने आमेर विधानसभा क्षेत्र से अपनी जीत दर्ज की थी| और आज विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही विधानसभा कार्यकर्ताओं में पैराशूट प्रत्याशियों को लेकर फिर से विरोध के स्वर ऊंचा उठने लगे हैं सूत्रों के अनुसार भाजपा के प्रदेश कार्यालय में पैराशूट प्रत्याशियों को लेकर कई बार झड़प भी हो चुकी है ऐसे में भाजपा पार्टी के आलाकमान इस बार स्थानीय जनरल कार्ड पर आमेर विधानसभा क्षेत्र से अपना भाग्य आजमाने की सोच रही है| ग्राउंड रिपोर्ट की मानें तो लगभग 60,000 ब्राहमण वोट आमेर विधानसभा क्षेत्र में है, ऐसे में पार्टी ब्राह्मण कार्ड पर ही अपना भाग्य आजमा सकती है| पिछले 20 साल से लगातार हार का सामना कर रही भाजपा पार्टी इस बार आमेर विधानसभा क्षेत्र से अपनी जीत दर्ज करना चाहेगी जिसको लेकर आमेर विधानसभा क्षेत्र में अपने सूत्रों के अनुसार कई बार सर्वे भी करवा चुकी है जिसमें बहुमत हर बार ब्राह्मण प्रत्याशी को ही मिलता नजर आ रहा है| देखना तो यह होगा कि अपनी पार्टी के दिग्गज सतीश पूनिया पर ज्यादा विश्वास जताए गी या फिर सर्वे रिपोर्ट के आधार पर जीत के लिए ब्राह्मण कार्ड खेलेगी| वहीं आपको बता दें कि भाजपा पार्टी के आलाकमान की फाइल के पहले पन्ने पर आमेर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत खोरा श्यामदास से टिकट मांग रहे सुमित शर्मा का नाम नजर आ रहा है|