जयपुर hellobikaner.com चिकित्सा एवं स्वास्थ तथा सूचना एवं जनसम्पर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि सरकार प्रदेश के दूर दराज बैठे व्यक्ति को चिकित्सा सुविधा प्रदान कर निरोगी राजस्थान के संकल्प को शीघ्र पूरा करेगी। इसी कड़ी में 15 हजार 500 नर्सिंग कर्मियों की भर्ती प्रक्रिया इसी माह पूर्ण कर ली जाएगी।

डॉ. शर्मा शनिवार को किशनगढ़ के यज्ञनारायण चिकित्सालय में प्रसूति गृह के विस्तारीकरण कार्य तथा सीसीटीवी कैमरे के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि आमजन को चिकित्सा सुविधा का लाभ मिले इसके लिए 15 हजार 500 नर्सिंग कर्मियों के साथ ही 737 डाक्टरों की भर्ती भी होगी। उन्होंने बताया कि नर्सिंग कर्मियों एवं नॉन टेक्निकल स्टाफ की 31 दिसम्बर तक भर्ती का कार्य पूर्ण हो जाएगा तथा उन्हें जनवरी माह में पोस्टींग भी दे दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि जिन जिलों में डाक्टरों की कमी है उसके लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी  जिला कलक्टर के माध्यम से प्रस्ताव भी मांगे गए है ताकि उस पर भी कार्यवाही कर आम आदमी को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जा सके। उन्होंने बताया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की पूर्ति के लिए भी मेडिकल कॉलेज में 960 पीजी की सीटों की स्वीकृति भी जारी की गई है। इससे गरीब आदमी का अपने बच्चों को डाक्टर बनाने का सपना भी पूरा होगा। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि सरकार दूरगामी सोच के साथ कार्य कर रही है। इसके लिए ई सिगरेट, हुक्का बार पर विधानसभा में कानून बनाकर पाबंदी लगाई गई है। मुख्यमंत्री जी का संकल्प है कि जन सामान्य के स्वास्थ के साथ कोई खिलवाड़ ना करे इसके लिए मिलावटखोरियों के विरूद्ध भी कड़ी कार्यवाही की जा रही है। शीघ्र ही खाद्य, पुलिस एवं चिकित्सा विभाग के सहयोग से मिलावटखोरियों के विरूद्ध सघन अभियान चलाया जाएगा।

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि देश में राजस्थान ही एक ऎसा प्रदेश है जो पहली बार सभी को चिकित्सा  अधिकार कानून के तहत दिलाएगा। इस संबंध में बजट सत्र के दौरान कानून लेकर आएंगे। उन्होंने बताया कि रक्त की कमी के कारण किसी को कठिनाई ना हो इसके लिए गत दिनो वृहद स्तर पर प्रदेशभर में रक्तदान शिविरों का आयोजन किया गया था। साथ ही लोगों से संकल्पपत्र भी भरवाएं गए थे ताकि रक्त की जरूरत के समय रक्त उपलब्ध हो सके। उन्होंने बताया कि 5 करोड़ 8 लाख रूपए की लागत से 14 रक्त संग्रहण मोबाइल वैन भी विभिन्न जिलों में भेजी गई है।

चिकित्सा मंत्री ने किशनगढ़ विधायक सुरेश टांक के अनुरोध पर 4 स्थानों पर विधायक मद से 28-28 लाख रूपए देने पर मौहल्ला क्लिनक खोलने की बात भी कही। मौके पर ही खण्डाच में उप स्वास्थ केन्द्र खोलने की घोषणा की तथा कहा कि जहां आवश्यक होगा नए स्वास्थ केन्द्र भी खोले जाएंगे तथा कहीं डॉक्टरों की कमी नहीं रहेगी। उन्होंने बताया कि निःशुल्क दवा योजना में प्रदेश देश में प्रथम स्थान पर है। महंगी दवाईया को भी निःशुल्क दवा के दायरे में लिया गया है। आज लगभग 712 दवाईयां मरीजों को निःशुल्क उपलब्ध करायी जा रही है। साथ ही नए दवा वितरण केन्द्र खोलने का कार्य भी जारी है। उन्होेंने बताया कि शीघ्र ही एक करोड़ 10 लाख परिवारों को बीमा के दायरे में लिया जाकर उन्हें चिकित्सा सुविधा मुहैयया करायी जाएगी। इसमें 50 हजार सामान्य मरीजों के लिए तथा 5 लाख रूपए गम्भीर रोगों के ईलाज के लिए बीमा के दायरे में लिया गया है। उन्होंने किशनगढ़ चिकित्सालय में सीआर सिस्टम उपलब्ध कराने के लिए भी सहमति व्यक्त की।

समारोह में किशनगढ़ विधायक सुरेश टांक ने किशनगढ़ क्षेत्र में 4 मौहल्ला क्लिनक खोलने की जरूरत बतायी। इसमें भवन एवं अन्य संसाधन उपलब्ध करा लिए जाएंगे। उन्होंने यज्ञनारायण चिकित्सालय में एक्सरे के ज्यादा मरीजो के कारण सीआर सिस्टम प्रदान करने का आग्रह भी किया। साथ ही चिकित्सा क्षेत्र की अन्य समस्याओं की जानकारी देते हुए उन्हें दूर करने का आग्रह भी किया।

इस मौके पर पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया ने किशनगढ़ में अधिक से अधिक चिकित्सा सुविधा प्रदान करने का अनुरोध किया।  प्रारम्भ में चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. अशोक जैन ने सभी का स्वागत किया तथा चिकित्सालय में उन्हें नए प्रसूति गृह एवं सीसीटीवी कैमरे के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रसूति गृह के इस कार्य में 50 लाख रूपए की लगात आई है।

इस मौके पर मार्बल एसोसिएसन के अध्यक्ष सुरेश जैन, नगर परिषद के सभापति श्री सीताराम साहू, संयुक्त निदेशक चिकित्सा श्री गजेन्द्र सिंह सिसोदिया सहित अनेक जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।