राजधानी में सफर करने वालों के लिए एक राहतभरी खबर है। अगर राजधानी एक्सप्रेस से प्रथम और दूसरी श्रेणी यानि AC-1 और AC-2 से सफर करने वाले यात्रियों का टिकट कन्फर्म नहीं होता है तो उन्हें हवाई टिकट का ऑफर दिया जा सकता है। हालांकि रेलवे टिकट और हवाई टिकट किराए में जो अंतर होगा उसका भुगतान यात्रियों को ही करना होगा। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने यह जानकारी दी है।

जानकारी के मुताबिक अश्वनी लोहानी ने भारतीय रेलवे को यह प्रस्ताव उस वक्त भेजा था जब वो एयर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर थे। हालांकि उस वक्त लोहानी के प्रस्ताव पर रेलवे ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी। ऐसे में जब लोहानी अब खुद ही रेलवे बोर्ड के चेयरमैन हैं उनका कहना है कि अगर एयर इंडिया की तरफ से अब ऐसा प्रस्ताव आता है तो वह इसे मंजूरी दे देंगे।

जानकारी के मुताबिक राजधानी के AC-1 और AC-2 कोच के किराए और एयर इंडिया के इकोनॉमी क्लास के किराए में बहुत ज्यादा फर्क नहीं है। जैसा कि राजधानी के टिकटों को लेकर यात्रियों में काफी मारा-मारी मची रहती है और यात्रियों का एक बड़ा वर्ग मुश्किल से ही राजधानी में अपनी टिकट कन्फर्म करा पाता है। इसी के मद्देनजर एयर इंडिया ने रेलवे को प्रस्ताव भेजा था कि अगर किसी सूरत में राजधानी के AC-1 और AC-2 यात्रियों का टिकट कन्फर्म नहीं होता उन्हें एयर इंडिया में हवाई सफर का विकल्प दिया जा सकता है।

1 COMMENT

  1. I simply want to tell you that I am all new to blogging and site-building and absolutely enjoyed your blog site. Probably I’m going to bookmark your blog . You surely come with outstanding stories. Many thanks for revealing your web page.

LEAVE A REPLY

*

code