बिहार के वैशाली में बड़ा ट्रेन हादसा सामने आया है, यहां सीमांचल एक्सप्रेस के 11 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं। यह हादसा आज सुबह तकरीबन 3.52 बजे बिहार के वैशाली में हुआ है। हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों के घायल होने की खबर है। ईस्ट रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई है। हादसे में घायलों की मदद के लिए मौके पर पुलिस पहुंच गई है। घायलों को पास के अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख, गंभीर रूप से घायलों को 1-1 लाख और मामूली रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए रेलवे ने मुआवजा देने का ऐलान किया है। वहीं बिहार सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान क किया है, साथ ही घायलों को 50-50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है।


सोनपुर डिवीजन में हादसा
जानकारी के अनुसार जोगबनी से आनंद विहार टर्मिनल जाने वाली सीमांचल एक्सप्रेस के 9 कोच पटरी से उतरे गए, जिसमे कई लोगों के घायल होने की खबर है। यह हादसा सोनपुर डिविजन में हुआ, जब ट्रेन मेहनार रोड से तकरीबन 3.52 बजे गुजर रही थी।

डॉक्टरों की टीम रवाना
जो कोच पटरी से उतर गए हैं उसमे स्लीपर के तीन कोच, एस-8, एस10, जनरल का एक कोच और एक एसी-बी 3 कोच शामिल है। मौके पर सोनपुर और बरौनी में स्थित अस्पतालों में डॉक्टरों की एक टीम को भेज दिया गया है।राहत और बचाव के लिए रिलीफ ट्रेन को भी रवाना कर दिया ग या है, जिसमे राहत की तमाम सामग्री और मदद घायलों को पहुंचाई जा रही है। घटना के बाद मौके पर लोगों में चीख-पुकार मच गई


हेल्पलाइन नंबर
हादसे के बाद भारतीय रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिसपर फोन करके मृत और घायलों की जानकारी हासिल की जा सकती है।
सोनपुर डिवीजन- 06158221645
हाजीपुर- 06224272230
बरौनी- – 0627923222

एनडीआरएफ की दो टीम मौके पर
रेलवे की अडिशनल डायरेक्टर जनरल पीआर स्मित वत्स शर्मा ने बताया कि हम राहत और बचाव कार्य पर ध्यान दे रहे हैं। मौके पर रेलवे एक्सिडेंट मेडिकल वैन और डॉक्टरो की टीम पहुंच गई है। साथ ही एनडीआरएफ की दो टीमें भी मौके पर पहुंच गई हैं।

शवो की हुई पहचान
घटना की जानकारी देते हुए एसडीआरएफ कमांडेंट विजय सिन्हा ने कहा कि 7 मृत लोगों में 6 शवों की पहचान की जा चुकी है। 3 शव बंगाल के हैं, जबकि 3 शव बिहारा के खगडिय़ा के हैं। राज्य सरकार ने शवों का पोस्टमार्टम के बाद उन्हें बंगाल और खगरिया भेजने का प्रबंध कर दिया है। राह और बचाव कार्य जारी है।