left

WhatsApp messages से भारत में फेक न्यूज के कारण हो रही मॉब लिंचिंग पर लगाम लगाने के लिए रोज नए कदम उठा रही है। हाल ही में कंपनी ने व्हाट्सऐप पर फॉरवर्डड मैसेज पर लेबल का फीचर शुरू किया था। अब कंपनी एक और फीचर की टेस्टिंग कर रही है, जिसके आने के बाद यूजर मैसेज को ज्यादा ग्रुप में नहीं भेज पाएंगे। Whatsapp messages भारत में मैसेज फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित करने के बारे में विचार कर रही है और अगर ऐसा होता है, तो इसके बाद व्हाट्सऐप यूजर्स केवल पांच ग्रुप में ही मैसेज भेज पाएंगे।

अविश्वास प्रस्ताव: “आ गले लग जा” से बदलेगी सियासत ?

भारत WhatsApp का सबसे बड़ा मार्केट है और यहां करीब 20 करोड़ लोग रोजाना इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं। पिछले कुछ समय में व्हाट्सऐप पर फेक न्यूज के चलन काफी बढ़ गया है। इसके चलते दो दर्जन लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। इसलिए कंपनी फेक न्यूज से निपटने के हर संभव प्रयास कर रही है। कंपनी मैसेज को फॉरवर्ड लेबल करने के बाद अब उन्हें सीमित करने पर भी विचार कर रही है।

केवल पांच चैट में फॉरवर्ड कर पाएंगे मैसेज

व्हाट्सऐप मैसेज फॉरवर्ड करने को सीमित करने की टेस्टिंग कर रही है जो सभी यूजर्स पर अप्लाई होगा। इसके साथ ही, कंपनी भारत में मैसेज को केवल पांच ग्रुप तक सीमित कर सकती है। इसका मतलब ये होगा कि कोई भी मैसेज यूजर केवल पांच चैट में ही फॉरवर्ड कर पाएंगे। इन पांच चैट में निजी और ग्रुप चैट शामिल होंगी। इसके साथ ही कंपनी मीडिया मैसेज के बगल में क्विक फॉरवर्ड ऑप्शन को भी हटा सकती है। मैसेज को फॉरवर्ड करना सिर्फ भारत में ही सीमित नहीं किया जाएगा, बल्कि ये पूरे व्हाट्सऐप के लिए होगा। अमेरिका में मैसेज 20 ग्रुप तक फॉरवर्ड किए जा सकेंगे।

बाज़ार में जल्द ही 100 रुपये का नया नोट होगा जारी, जाने नए नोट की मुख्य विशेषताएं

सरकार ने फिर व्हाट्सऐप को भेजा नोटिस

दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले भारत में सबसे ज्यादा मैसेज और वीडियो फॉरवर्ड किए जाते हैं। गुरुवार को सरकार ने व्हाट्सऐप को एक और चेतावनी जारी करते हुए फेक न्यूज रोकने के लिए बेहतर कदम उठाने के लिए कहा था। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने व्हाट्सऐप को प्रभावी हल निकालने के लिए कहा है और अगर ऐसा नहीं किया गया, तो कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवई की जा सकती है। साभार : वन इंडिया