जयपुर। भाजपा राजस्थान में अपनी सरकारी वापिस लाने का हर संभव प्रयास कर रही है। राजस्थान में पिछले 25 सालों से कोई भी सरकार वापिस नहीं आई है। भाजपा चाहेगी वह राजस्थान में यह करिश्मा कर आने वाले लोकसभा चुनाव में फिर से राजस्थान से लोकसभा की 25 की 25 सीट वापिस हासिल की  जाए। भाजपा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 21 रैलियों का चार्ट तैयार किया है।

सूत्रों के अनुसार 21 नवंबर से 30 नवंबर के बीच राजस्थान में योगी लगभग 21 रैलियों को संबोधित करने वाले है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राजस्थान वापिस भाजपा सरकार लाने के लिए हर संभव  प्रयास कर रहें। राजस्थान में भाजपा ने अभी तक 162 प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिये है। 162 प्रत्याशियों में ज्यादातर सभी प्रत्याशि योगी को अपने विधानसभा क्षेत्र में लाने की मांग कर रहे है। वहीं भाजपा चाहेगी की योगी को उन क्षेत्रों में भेजा जाए जहां भाजपा की स्थिति कमजोर नजर आ रही है।

आप को बता दे योगी आदित्यनाथ इसी महिने की 3 तारिख को बीकानेर में नवलेश्वर मठ सिद्धपीठ में भगवान आदित्यदेव की प्रतिमा का अनावरण के लिए आए थे। लेकिन अब योगी राजस्थान में भाजपा का चुनाव प्रचार करने आयेगें। योगी आदित्यनाथ अपनी रैली की शुरूआत 23 नवंबर को कोटा क्षेत्र से करेगें और 29 नवंबर को अलवर, किशनपोल मुंडावार में अपनी आखिरी तीन रैलियां करेगें। योगी पूरे राजस्थान में कुल 21 रैलियां करेगें। यूपी की तरह राजस्थान में बीजेपी हिंदु कार्ड खेलती नजर आ रही है।

इसका सीधा उदाहरण यह है कि अभी तक घोषित प्रत्याशियों की लिस्ट में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार के नाम पर मुहर नहीं लगाई है। सबसे चौकाने वाला नाम नागौर से सामने आया है। यहां से विधायक रहे हबीबुर्रेहमान का टिकट भी भाजपा ने काट दिया है। हबीबुर्रेहमान अब कांग्रेस में शामिल हो गए है। मंत्री और विधायक यूनुस खान का नाम भी अभी तक दोनो लिस्ट में देखने को नहीं मिला है।

यह भी पढ़े : बीकानेर : मौजूदा विधायक ने छोड़ा भाजपा का दामन, लड़ सकते है दूसरी पार्टी से चुनाव