‘ये बेटियां’ गीत की हुई भव्य लांचिंग, हजारों लोग बने साक्षी

0


बॉलीवुड गायक कलाकारों ने बनाया कार्यक्रम को संगीतमयी

 

002

हैलो बीकानेर,। आज के इस जमाने में लड़कीयां किसी भी क्षेत्र में पिछे नहीं रही है। बढ़ते लिंगानुपात और सरकार के बेटी बचाओं अभियान को मध्यनजर रखते हुऐ बीकानेर के गायक नवीन आचार्य ने एक गीत लिखा जिसका बीकानेर के पुष्करणा स्टेडियम में भव्य लांचिंग की। इस लांचिंग के दौरान बॉलीवुड की मिथिला पुरोहित (टीवी कलाकार), सारंगी वादक दिलशाद खां, तनवीर हुसैन, जुबैर हासमी (सारेगामापा 2016), कॉमेडियन ख्याली, सुल्तान (जिंगल सिंगर), शहजाद अली (सुरक्षेत्र) ने अपनी प्रस्तुति से कार्यक्रम को संगीतमयी बना दिया। कार्यक्रम में ये बेटियां के ऑडियो-विजुअल की लांचिंग की गई। कार्यक्रम की शुरूआत गणेश वंदना से की गई। फिर गायक कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दी। कॉमेडियन ख्याली ने अपनी हंसती-गुदगुदाती बातों से कार्यक्रम में सबको हंसाया। वहीं बॉलीवुड व टीवी की दुनिया में अपनी पहचान बनाने वाली व बीकानेर में जन्मी मिथिला पुरोहित ने कार्यक्रम में अपनी प्रस्तुति देकर श्रोताओं की तालियां बटोरी। दिलशाद खां ने जब अपनी सुरली सारंगी के तार छेड़े पूरे स्टेडियम में वाह-वाह के स्वर गुंजने लगे। तनवीर-जुबेर की गायकी को सुन श्रोताओं में से लोग उठ-उठ कर उन्हें मालाऐ पहनाने लगे। बीकानेर के शहजाद अली के गीतों पर श्रोताओं ने जमकर नृत्य किया।
कार्यक्रम के मध्य में ये बेटियां गीत के गायक नवीन आचार्य ने जब अपनी प्रस्तुति दी तो बॉलीवुड कलाकारों के बीच शहर के लाड़ले को गाता सुन श्रोताओं को नवीन के बड़े भाई इंडियन आईडल-२ स्व. संदीप आचार्य की याद आ गई। पुष्करणा स्टेडियम में हुए समारोह के दौरान गायक नवीन आचार्य के लिखे और गाएं गीत की लांचिंग महापौर नारायण चौपड़ा, जनार्दन कल्ला, सुनीता गौड़, राजेंद्र व्यास ममू महाराज, अविनाश जोशी, दिलीप जोशी, ऋतु शर्मा, रामरतन धारणियां, श्वेत गोस्वामी, आर जे रोहित शर्मा, सुधा आचार्य और हरिशंकर आचार्य ने की।

बम्बई से सभी कलाकारों को स्मृति चिंह भेट कर उनका सम्मान किया गया। कार्यक्रम में पत्रकार-साहित्यकार हरीश बी. शर्मा, पत्रकार अनुराग हर्ष, धर्मा पेंटर, रोहित बोड़ा, आदित्य पुरोहित, अमित जोशी, कुलदिप जैन, सुभम जैन, मुकेश आचार्य, राहुल व्यास जयदीप उपाध्याय, तरूण बोड़ा, दिनेश ओझा, अशोक बोहरा, दिनेश कच्छावा, शिव कुमार कच्छावा, प्रितम जोशी, पंकज जोशी, मनीष चौधरी, बाबूराज छंगाणी, दिपक देरासरी, ओमप्रकाश भादाणी, नानसा पुरोहित, विकास किराडू, उदय व्यास उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन नरेश मीर ने किया।