बीकानेर hellobikaner.com जिला मजिस्ट्रेट कुमार पाल गौतम ने कहा कि शहर के लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है और इसी के मद्देनजर कुछ क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू की गई है।

रविवार शाम को गंगाशहर निषेधाज्ञा क्षेत्र का दौरा करते हुए गौतम ने आम लोगों को इस बात के लिए आश्वस्त किया कि सरकार और प्रशासन आप की सुरक्षा के लिए है और आमजन को आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध हो इसके लिए शिद्दत के साथ कार्य किया जा रहा है।

जनता को निर्भीक होकर रहना है किसी तरह का मन मे भी भय नहीं रखना, किसी अफवाह पर गौर नहीं करें और भयमुक्त होकर अपने घरों में रहें। प्रशासन की ओर से पूरे प्रयास किए जाएंगे कि आपको किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े। गंगाशहर क्षेत्र का सघन दौरा करते हुए उन्होंने इस बात के लिए भी लोगों से अपील की यह समय समस्त आशंकाओं को निर्मूल साबित करने का है।

बीकानेर : पी.एम. केयर फण्ड के लिये जाम्भाणी साहित्य अकादमी ने दिए 2 लाख रूपये

निषेधाज्ञा का मतलब आमजन को भयभीत करना नहीं है बल्कि किसी भी संभावित परेशानी को जड़ से हटाने के लिए है। यह सुरक्षा के लिहाज से किया जा रहा है क्षेत्र के लोगों को आवश्यक सामग्री की कोई असुविधा नहीं होगी, इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर पूरी व्यवस्था की जाएगी। संकट के इस दौर में आमजन अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए घरों में रहकर सहयोग करें। निषेधाज्ञा क्षेत्र में दौरे के दौरान जिला मजिस्ट्रेट ने तमाम व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। दौरे के समय जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा सहित अन्य अधिकारी साथ थे।

बीकानेर : पतंगबाजी पर लगाए प्रतिबंध, बिक्री और उपयोग पर रोक

जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि पूरे क्षेत्र में सोडियम हागपोक्लोराइट का छिड़काव बेहतर तरीके से किया जाए , साथ ही रोगी जिस चिकित्सक को दिखा रहा था, उसकी भी जांच की जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि है इस क्षेत्र में इस तरह से बैरिकेडिंग की जाए की जिस मकान में रोगी चिन्हित हुआ है, उसके आसपास से कोई व्यक्ति बाहर आ जाए और ना ही कोई अंदर प्रवेश करें। 

बीकानेर : गंगाशहर पुलिस थाना क्षेत्र में 1 किलोमीटर के दायरे में निषेधाज्ञा लागू, जारी किए आदेश