बीकानेर : रोजगार सहायता शिविर का हुआ आयोजन

0


DSC_0213 DSC_0179 (1)

हैलो बीकानेर,। कार्यालय जिला रोजगार अधिकारी, विश्वविद्यालय रोजगार सूचना एवं मार्गदर्शन केन्द्र, बीकानेर द्वारा गंगानगर रोड़ स्थित स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय परिसर में बेरोजगार आशार्थियों के लिए एक रोजगार सहायता शिविर का आयोजन किया गया जिसमें निजी एवं राजकीय क्षेत्र के 14 संस्थानों ने भाग लिया तथा लगभग 500 बेरोजगार आशार्थियों ने शिविर में भाग लिया।
शिविर का उद्घाटन कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता श्री आई. जे. गुलाटी द्वारा किया गया। उन्होंनें कहा कि ‘‘इस तरह के शिविर प्रार्थियों कि लिए बहुत लाभकारी है क्योंकि उन्हें एक ही केम्पस में विभिन्न रोजगार एवं स्वरोजगारपरक जानकारियाँ प्राप्त हो जाती है, ऐसे शिविर भविष्य में भी आयोजित किये जाने चाहिए।‘‘ शिविर प्रभारी जिला रोजगार अधिकारी हरगोबिन्द मित्तल ने सभी आगन्तुकों का स्वागत करते हुए शिविर के उद्धेश्यों की जानकारी दी । इस अवसर पर क्षेत्रीय प्रबन्धक, बैंक ऑफ बड़ौदा श्री हरीश पालीवाल एवं अधिष्ठाता, गृह विज्ञान महाविद्यालय श्रीमती दीपाली धवन उपस्थित रहे।
शिविर में आये विभिन्न नियोजकों द्वारा 146 प्रार्थियों का रोजगार हेतु प्रारम्भिक चयन किया गया जिनमें प्रमुख रूप से चम्बल फर्टीलाईजर द्वारा 13, मैजिक ग्रो बायोटेक द्वारा 15, स्वामी एग्रो द्वारा 13, इक्विटास बैंक द्वारा 34, श्रीराम फर्टीलाईजर द्वारा 47, एपनेट कम्प्यूटर द्वारा 17 एवं गुरूकुल बी एल मोहता लर्निंग इंस्टीट्यूट द्वारा 07 प्रार्थियों का प्रारम्भिक चयन किया गया। इनमें गृह विज्ञान महाविद्यालय की 18 छात्राओं का प्रारम्भिक चयन हुआ।
प्रशिक्षण सुविधाओं के रूप में राजस्थान कौशल एवं आजिविका विकास निगम (आरएसएलडीसी) के विभिन्न संस्थानों एवं जन शिक्षण संस्थान के प्रतिनिधियों द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रमों एवं भर्तियों के सम्बन्ध में जानकारियां दी गई। शिविर में इन संस्थानों द्वारा 80 प्रार्थियों का प्रशिक्षण सुविधाओं हेतु पंजीयन किया गया।
राजकीय योजनाओं एवं स्वरोजगार की सुविधाओं हेतु बैंक ऑफ बड़ौदा, अल्प संख्यक विभाग एवं बिरला सनलाईफ के प्रतिनिधियों ने स्व-रोजगार एवं ऋण योजनाओं की जानकारी दी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय रोजगार सूचना एवं मार्गदर्शन केन्द्र द्वारा कैरियर प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। स्वरोजगार एवं ऋण हेतु इन कार्यालयों द्वारा कुल 129 आशार्थियों का पंजीयन किया गया।