बीकानेर : निर्धारित गहराई में नहीं डाली पाइपलाइन, दो साल बाद ठेकेदार से करवाई दुरूस्त

0
hello bikaner




बीकानेर hellobikaner.com जयपुर रोड पर सोफिया स्कूल के पास लगभग दो साल पूर्व डाली गई पेयजल पाइप लाइन नॉर्म्स अनुसार गहरी नहीं थी।

 

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल के निरीक्षण के दौरान यह बात सामने आई, तो उन्होंने इसे ठीक करने के निर्देश दिए। जलदाय विभाग के अधिकारियों की देखरेख में इस पाइप लाइन को एक मीटर गहराई में शिफ्ट करवा दिया गया है।

जिला कलक्टर ने बताया कि पेयजल पाइपलाइन को निर्धारित गहराई में डालने संबंधी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। कार्य के दौरान ठेकेदारों को इन नॉर्म्स की पालना करना जरूरी है, लेकिन म्यूजियम सर्किल से हल्दीराम प्याऊ तक सड़क चौड़ीकरण कार्य के निरीक्षण के दौरान यह सामने आया कि लगभग 2500 मीटर लम्बी पाइपलाइन सड़क से थोड़ी नीचे ही डाल दी गई।

 

इससे सड़क निर्माण के दौरान इस पाइपलाइन के क्षतिग्रस्त होने तथा भविष्य में इस कारण सड़क को नुकसान पहुंचने की संभावना थी। इसके मद्देनजर उन्होंने निर्देश दिए कि इस पाइपलाइन को निर्धारित नॉर्म्स के अनुसार शिफ्ट किया जाए और दो वर्ष बाद यह शिफ्टिंग की गई।

जांच के दौरान सामने आया निर्माण सामग्री नहीं थी गुणवत्तापूर्ण, जिला कलक्टर के निर्देश पर ठेकेदार ने करवाई दुरूस्त

वार्ड नंबर 23 में मधुर पब्लिक स्कूल के पास नगर निगम द्वारा बनाई गई सड़क में गुणवत्ता मानकों की पालना नहीं होने संबंधी शिकायत जिला कलेक्टर को प्राप्त हुई। इसे गंभीरता से लेते हुए जिला कलेक्टर ने अधीक्षण अभियंता (गुण नियंत्रण) पीडब्ल्यूडी को सड़क निर्माण में प्रयुक्त की गई सामग्री की गुणवत्ता की जांच के निर्देश दिए।

 

जांच के दौरान निर्माण सामग्री तथा निर्माण कार्य नॉर्म्स के अनुसार नहीं होना पाया गया। इस पर जिला कलेक्टर ने सड़क के गुणवत्ताहीन सड़क को अविलम्ब ठीक करवाने के निर्देश दिए। ठेकेदार द्वारा इस सड़क को ठीक करवा दिया गया है। जिला

 

कलेक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जिले में निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता सहन नहीं किया जाएगा। प्रत्येक एजेंसी को निर्धारित मापदण्डों के अनुसार कार्य करना होगा। ऐसा करने वालों के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।