बीकानेर hellobikaner.com जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि कोराना पाॅजिटिव की सूचना मिलने के दो घंटे में रोगी को चिकित्सकीय सुविधा मिल जाए। उसे हाॅस्पिटल, कोविड केयर सेन्टर अथवा होम क्वाॅरेन्टाइन में से कहाँ रहना है, इसका निर्णय कर तत्काल ईलाज प्रारंभ कर दें।

मेहता शुक्रवार को कलक्टर सभागार में आयोजित कोविड-19 की समीक्षा बैठक में जिला मुख्यालय पर बनाए 9 जोन प्रभारी अधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना पाॅजिटिव रोगी के जो प्रथम संपर्क  में आता है, उसकी जांच तत्काल की जाए और उसे यह समझाईश की जावे कि जब तक रिपोर्ट न आए, तब तक वह आइसोलेट ही रहे। इसी तरह जो पाॅजिटिव मरीज के द्वितीय स्तर के संपर्क में आता है, उसे पाँच दिन तक होम आइसोलशन में रखा जाए। उसके बाद अगर उस व्यक्ति में लक्षण नजर आते हैं, तो उसकी जांच की जाकर, पाॅजिटिव होने की स्थिति में अस्पताल, कोविड केयर सेन्टर अथवा होम क्वाॅरेन्टाई, जो भी स्थिति हो, उसे आइसोलेट किया जाए।

जिला कलक्टर ने कहा कि होम क्वाॅरेन्टाइन जिन लोगों को किया जा रहा है, उनके घर के बाहर नोटिस चस्पा किया जाए और रोगी की प्रतिदिन स्वास्थ्य जांच की जाए। अगर जांच में कोई अन्य बीमारी के लक्षण नजर आए, तो उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती करवाया जाए। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.बी.एल.मीणा, प्रशिक्षु आई.ए.एस. कनिष्क कटारिया सहित जोन प्रभारी अधिकारी उपस्थित थे।