सादुलपुर hellobikaner.com (मदनमोहन आचार्य): नगरपरिषद सभापति पायल सैनी एवं आयुक्त द्वारका प्रसाद ने गुरूवार देर शाम गाजसर गिनाणी का निरीक्षण कर मौके पर मौजूद अधिशाषी अभियन्ता ईरफान अली और सहायक अभियन्ता अच्युतधर द्विवेद्वी को गिनाणी की सुरक्षा को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

सभापति पायल सैनी ने बताया कि उनके सभापति बनने के बाद से लेकर अब तक उन्होने नगरपरिषद में उपलब्ध संसाधनो के साथ बरसात के मौसम में भी गिनाणी के पानी को गाजसर गांव की ओर जाने नहीं दिया है। नगरपरिषद की टीम द्वारा दिन-रात गिनाणी की समस्या के समाधान के प्रयास किये जा रहे है बावजूद इसके बुधवार को कुछ शरारती तत्वो द्वारा गिनाणी के आस पास रह रहे बस्ती के लोगो के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड किये जाने का कुत्सित प्रयास किया जो कि बर्दाशत नहीं किया जायेगा।

सभापति पायल सैनी ने बताया कि बुधवार को किसी समय कुछ अज्ञात शरारती तत्वो ने गिनाणी पर लगे चैनल गेट को खोल दिया और पत्थर लगाकर चले गये। जिससे गिनाणी का पानी आम रास्ते पर आना शुरू हो गया। जिसकी सूचना उन्हे मिलते ही उन्होने तत्काल अधिकारियो को सूचित कर मौके पर भेजा और पानी निकासी को बन्द करवाया। उन्होने कहा कि नगरपरिषद द्वारा गिनाणी की समस्या का समाधान किया जाना कुछ लोगो को अखर रहा है उनकी दुकनदारी बन्द हो गई है। इसी कारण वे जानबूझ कर समस्या पैदा करने का प्रयास करते है जो किसी भी सूरत में उनके मनसूबो को पूरा नहीं होने दिया जायेगा।

सभापति ने बताया कि गिनाणी की समस्या के स्थायी समाधान के लिये करीब 9 करोड रूपये की योजना बनाकर राज्य सरकार को भिजवाई जा चुकी है उनका यह प्रयास है कि योजना को जल्द से जल्द स्वीकृत करवाकर लोगो को गिनाणी की समस्या से निजात दिलाई जायेगी। इस अवसर पर नगरपरिषद पीआरओ किशन उपाध्याय, पार्षद गिरधारी लाल भाभी, अशोक पंवार भी उपस्थित थे।