राजगढ की गलियों में गुजारा हुआ बचपन कभी नही भूल सकताःडॉ. राजेन्द्र जोशी

0


सादुलपुर(मदनमोहन आचार्य) राजगढ के अपने जमाने के रहे सुप्रसिद्ध साहित्यकार वैद्य महावीर प्रसाद जोशी के पुत्र स्विट्जरलैंड प्रवासी एवं राजगढ नगर से भामाशाह डॉ. राजेंद्र जी जोशी एवं उनकी धर्म पत्नी श्रीमती उर्सूला जोशी का जयपुर में उनके निवास पर युवा सांसद राहुल कस्वां, राजगढ नगर पालिका के अध्यक्ष जगदीश बैरासरिया सहित न.पा.पूर्व चैयरमैन जयभगवान सैनी, भाजपा नेता जयवीर ढाका, पार्षद अनशुईया शेखर पाण्डिया, भाजपा जिला मंत्री पार्षद प्रदीप अत्रि, अजय नेहरू, युवा एडवोकेट ज्ञानप्रकाश सैनी, पार्षद रामसिंह प्रजापत, पार्षद भूरेखा, पार्षद दराज खां सोलंकी, युवा सामाजिक कार्यकर्ता रोहताष कालेरा, पार्षद सुमन अशोक चावरियां, प्रदीप सैनी, राकेश सैनी, भाजपा अल्प संख्यक नेता बाबू खां बिसायती, प्रमोद पूनियां, सतार खां तेली ने नगर सेठ की उपाधि से सम्मानित किया गया। इस मौके डॉ. राजेन्द्र प्रसाद जोशी ने कहा कि मेरी जन्म भूमि राजगढ को कभी नही भूल सकता क्योकि मेरा बचपन राजगढ की गलियों में गुजरा है लेकिन मेंने शिक्षा अन्यन्त्र ग्रहण की और राजगढ में ही मेरे पिता वैद्य महावीर प्रसाद जोशी ने मोहता औषद्यालय में अपनी सेवाऐं दी थी और राजगढ जन्म स्थली एवं राजगढ से परिवार की चिर स्मृति एवं विशेष जुडाव है। उन्होने कहा कि राजगढ का विकास एवं वहां पर रहने वाले अभाव ग्रस्त लोगों की सेवा करना ही हमारी प्राथमिकता है। डॉ.जोशी दम्पति ने अपने पिताश्री की यादों का स्मरण करते हुए बताया कि मेरी तमन्ना है कि राजगढ़ का ऐसा विकास हो ओर गरीब जरूतमंद लोगों की अर्थिक रूप से मदद कर सकूँ, ताकि पिताश्री वैध महावीर प्रसाद जोशी का नाम अविस्मरणीय बना रहे। उन्होने बताया कि निकट भविष्य में बे-घर परिवारों के लिए एक सौ मकान बनवा कर गरीब परिवारों को निःशुल्क दिए जाएगें। इस मौके युवा सांसद राहुल कस्वां एवं नगर पालिका अध्यक्ष जगदिश बैरासरिया ने डॉ,राजेन्द्र प्रसाद,उर्सूला जोशी को शॉल, साफा और प्रतीक चिन्ह के साथ नगर सेठ उपाधियुक्त अभिनंदन पत्र भेंट करते हुए कहा कि ऐसे निष्काम सेवाभावी दानवीर व्यक्तित्व बिरले ही होते हैं, और ऐसे विशिष्ठ लोगों का सान्निध्य और कृपा सौभाग्यशाली लोगों को ही मिल पाती है। डॉ.राजेन्द्र एण्ड उर्सूला जोशी एज्युकेशन सोसायटी के तत्वावधान एवं सोसायटी के सचिव अविनाश जोशी के नेतृत्व में राजगढ में जो काम हो रहे हैं वो एक ऐतिहासिक कार्य है। इस अवसर पर डॉ.जोशी परिवार के जयंत जोशी, अविनाश जोशी, विकास जोशी, नयन जोशी, विवेक जोशी, अभिषेक जोशी आदि ने राजगढ़ के लोगो की अगवानी और स्वागत किया।