कानून व्यवस्था का संधारण सुनिश्चित हो- संभागीय आयुक्त

0


बीकानेर,। संभागीय आयुक्त सुवालाल ने कहा कि जिलों में कानून व्यवस्था का भलीभांंित संधारण सुनिश्चित किया जाए, सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं, अवैध खनन पर रोक लगाई जाए, साथ ही बिजली-पानी आपूर्ति के पुख्ता बंदोबस्त किए जाएं।
संभागीय आयुक्त गुरूवार को सीएडी सभागार में आयोजित संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक के द्वितीय चरण की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अवैध खनन पर प्रभावी रोक के लिए खान व पुलिस विभाग समन्वय से कार्य करें। संभागीय आयुक्त ने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान के प्रथम चरण के कार्यों की बकाया यूसी व सीसी जारी की जाए व द्वितीय चरण के कार्यों की वित्तीय स्वीकृति एवं प्रारम्भ कार्यों की प्रगति रिपोर्ट समय पर प्रस्तुत की जाए। मार्च में आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर परीक्षा केन्द्रों पर सभी व्यवस्थाएं दुरूस्त रखते हुए परीक्षा पत्रों की सुरक्षा व परीक्षा में नकल न हो, इसके लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं।
संभागीय आयुक्त ने निर्देश दिए कि मनरेगा कार्यों की जियोटैगिंग की जाए एवं मनरेगा में नियोजित श्रमिकों की संख्या बढ़ाने के विशेष प्रयास किए जाएं। उन्होंने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को निर्देश दिए कि मनरेगा योजना के तहत नहरों के पटड़ों का मरम्मत कार्य व डिसिल्टिंग कार्य की सजगता से मॉनिटरिंग करें। रबी फसल के लिए जारी सिंचाई पानी रेग्युलेशन व सिंचाई पानी चोरी रोकने के लिए की गई कार्यवाही की उन्होंने जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि जल उपभोक्ता संगम, जल वितरण समितियों का गठन समय पर सुनिश्चित किया जाए।
संभागीय आयुक्त ने राजस्थान संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों व उनके निस्तारण व वेरिफिकेशन की प्रगति रिपोर्ट लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उपखण्ड स्तरीय जनसुनवाई नियमित रूप से की जाए व मासिक सारांश समय पर भिजवाया जाए। उन्होंने डिग्गियों की समयबद्ध सफाई करवाने के भी निर्देंश दिए।
महानिरीक्षक पुलिस बीकानेर रेंज विपिन कुमार पांडेय ने कहा कि सड़क दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर तकनीकी राय ली जाए, जिससे संभावित दुर्घटनाओं से बचा जा सके। ओवरलोडेड वाहनों व निर्धारित गति सीमा से तेज गति वाले वाहन चालकों पर कठोर कार्यवाही की जाए। ट्रेफिक लाइट्स दुरूस्त रखी जाएं, नो पार्किंग जोन के सम्बन्ध में सख्ती से पालना करवाई जाए। आवारा पशुओं की धरपकड़ सुनिश्चित की जाए। बाल वाहिनी संचालन के सम्बन्ध में परिवहन व पुलिस विभाग समन्वित मॉनिटरिंग करें। पांडेय ने निर्देश दिए कि नहरी पानी चोरी रोकने के लिए नियमित गश्त की जाए। कानून व्यवस्था से जुड़े मामलों में संवेदनशीलता से कार्य किया जाए। मेलों व त्यौहारों के अवसर पर विशेष सतर्कता रखी जाए।
जिला कलक्टर वेदप्रकाश ने जिले में अवैध खनन की रोकथाम की दिशा में किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक डॉ. अमनदीप सिंह कपूर ने बताया कि जिले में सीएलजी बैठकों का नियमित आयोजन किया जा रहा है।
बैठक में श्रीगंगानगर जिला कलक्टर ज्ञानाराम, हनुमानगढ़ जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित, बीकानेर जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नमृता वृष्णि, चूरू पुलिस अधीक्षक राहुल बारठ, हनुमानगढ़ पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण यादव, श्रीगंगानगर पुलिस अधीक्षक राहुल कोटकी, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त डॉ. राकेश शर्मा, सिंचित क्षेत्रा विकास के एएडीसी एफ आर सोनी, चूरू जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी महेन्द्र लोढ़ा, श्रीगंगानगर सीईओ विश्राम मीना सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।