टी20 विश्व कप में पाकिस्तान सेमीफाइनल में नहीं पहुंचा तो इस पूर्व भारतीय खिलाड़ी को होगी बेहद ख़ुशी

0




हैलो बीकानेर न्यूज़ hellobikaner.com भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष रोजर बिन्नी ने कहा है कि यदि पाकिस्तान टी20 विश्व कप 2022 के सेमीफाइनल में नहीं पहुंचता है तो यह उनके लिये बेहद खुशी की बात होगी।

 

 

बिन्नी ने शुक्रवार रात पत्रकारों से कहा, “मेरे मतलब पाकिस्तान के लिये सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल होगा। अगर ऐसा होता है तो यह मेरे लिये बेहद खुशी की बात होगी, लेकिन क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और कभी भी कुछ भी हो सकता है।”

 

 

पाकिस्तान को सुपर-12 मैच जिम्बाब्वे के खिलाफ रोमांचक मैच में गुरुवार को सिर्फ एक रन से शिकस्त मिली। लगातार दो मैचों में दो हार के बाद उनके सेमीफाइनल में पहुंचने की संभावनाएं लगभग समाप्त हो गई हैं।

 

 

बिन्नी ने कहा, “यह अच्छा है कि छोटी टीमें ऊपर आ रही हैं। जिम्बाब्वे और आयरलैंड ने इस टी20 विश्व कप में इसे साबित कर दिया है। अब आप छोटी टीमों को हल्के में नहीं ले सकते। वे आपको आसानी से हरा सकते हैं।”

 

 

एक सवाल के जवाब में बिन्नी ने कहा कि लोगों को टी20 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच जीतने के लिए भारत के असाधारण प्रदर्शन की सराहना करनी चाहिए, न कि चर्चा को आखिरी ओवर में फेंकी गई नो बॉल के इर्द गिर्द घुमाना चाहिये।

 

 

उन्होंने कहा, “जब आप मैच हारते हैं, तो आपको इसे निष्पक्ष रूप से लेना चाहिए। लोगों को भारत के खेल को जीतने के तरीके की सराहना करनी चाहिए।”

 

 

उल्लेखनीय है कि विराट कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी ओवर में मोहम्मद नवाज द्वारा फेंकी गई नो बॉल पर छक्का जड़ा था, जिसके बाद उस गेंद की वैधता पर बहस शुरू हो गई थी। कई लोगों का मानना था कि वह बॉल कमर के ऊपर नहीं थी और अंपायर को इस निर्णय के लिये थर्ड अंपायर के पास जाना चाहिये था, हालांकि आईसीसी नियमों के अनुसार यदि नो-बॉल पर विकेट नहीं गिरता तो उसे थर्ड अंपायर के पास नहीं भेजा जा सकता।

 

 

बिन्नी ने पाकिस्तान के खिलाफ कोहली की असाधारण पारी की तारीफों के पुल बांधते हुए कहा, “आपने ऐसे मैच कम ही देखे होंगे जो ज्यादातर समय पाकिस्तान के पक्ष में रहे और अचानक भारत ने वापसी की हो। यह खेल के लिए अच्छा है क्योंकि दर्शक यही देखना चाहते हैं।”

 

 

एक सवाल के जवाब में बिन्नी ने कहा कि कोहली को अपनी काबिलियत साबित करने की जरूरत नहीं है क्योंकि वह एक शानदार खिलाड़ी हैं और दबाव की स्थिति में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना बखूबी जानते हैं।

 

 

ख़बर सर्किल : खुलेआम चला जुआ, पटाखों के दामों से धमाके, सोशल मीडिया पर रामा श्यामा