हैलो बीकानेर,| बीकानेर के पंडित गिरधारी सूरा ( पुरोहित ) के अनुसार सांसारिक जीवन में हर व्यक्ति के लिए शादी विवाह एक अनिवार्य संस्कार है ! जब पुत्र-पुत्री विवाह योग्य आयु में जिज्ञासा उत्पन्न होती है यह जानने की कि उनकी संतान का विवाह होगा या नहीं ! और होगा तो कब होगा ,बहु व दामाद कैसा मिलेगा , ससुराल कैसा होगा , वंश वृद्धि हेतु पोत्र की प्राप्ति होगी या नहीं , बहु हमारी सेवा करेगी या नहीं ! इन्ही चिंता में डूबे हुए माता पिता अपनी संतान के लिए उचित जीवनसाथी की खोज में इधर उधर अपने मिलने वालो के पास भटकते फिरते है जिसमे कुछ रिश्ते होते है और कुछ कुछ रिश्तों में अड़चने आती रहती है !उम्र लगातार बढ़ती रहती है और लाख प्रयासों के बाद भी रिश्ते नहीं बनते है इन्ही बातो को ध्यान में रखते हुवे कुछ ऐसे योग जो विवाह में रुकावट लाते है :–
1● सप्तम , सप्तमेश तथा कलत्रकारक, शुक्र पर जन्मकुंडली तथा नवांश कुंडली दोनों में ही पाप एवं क्रूर ग्रहो का भारी अशुभ प्रभाव हो |
2● सप्तम,पंचम या नवम भाव में मंगल व शुक्र की युति पाप प्रभाव में हो |
3● चंद्र लग्न से सप्तम में मंगल, शुक्र व शनि की युति हो |
4● शनि व राहु लग्न में हो |
5● चंद्रमा व राहु की युति द्वादश भाव में हो तथा उन पर मंगल व शनि दोनों की दृष्टि हो |
6● लग्न में केतु, सप्तम में राहु के साथ शनि या सूर्य हो तथा सप्तम पर सूर्य या शनि की दृष्टि हो |
इन्ही योगो के कारण विवाह में विलम्ब होता है ! पंडित गिरधारी सूरा ( पुरोहित ) के अनुसार जन उपयोगी हितार्थ को ध्यान में रखते हुए कुछ उपायो को बताया है |
1● विवाह योग्य युवक-युवती किसी अपने रिश्तेदार की शादी में जाये और यदि वहां दूल्हा व दुल्हन की मेहन्दी लग रही हो तो अविवाहित युवक-युवती कुछ मेहंदी उनके हाथ से अपने हाथ पर लगवा ले |
2● शिव पार्वती का विधिवत पूजन करे और पार्वती माता का सोलह श्रृंगार करके शिवजी के साथ गठ जोड़ा बांध दे ! सोलह सोमवार का व्रत करे |
3●गुरुवार के दिन विष्णु लक्ष्मी मंदिर में कलंगी चढ़ावे |
4●खेजड़ी व पीपल का वृक्ष जहाँ साथ हो उसका पूजन कर सूत और मौली से वृक्ष के चारो तरफ सातवार घुमाकर लपेट दे |
5● श्री मद् भागवत् कथा का पढ़े |
6● अविवाहित युवक-युवती शादी के मंत्र का सवा लाख जाप करे|
लड़के के लिए :-
पत्नीमनोरमांदेहि मनोवृत्तानुसारिणीम् !!
तारिणीम् दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम् !!
लड़की के लिए कात्यायनि माता का भी पूजन कर मंत्र का जाप करे :-
कात्यायनि महामाये महायोगिन्यधीश्वरि !
नंद गोपसुतं देवि पति में कुरु ते नमः !!
7● यदि किसी कन्या की जन्म कुंडली में मांगलिक योग के कारण बाधा आ रही हो तो कन्या को मंगल चंडिका स्तोत्र का पाठ , मंगल मंत्र का जाप व सुन्दरकांड का पाठ करे |
8● विश्वावसु गंधर्व का पाठ करे |
9● सफेद गाय को चने की दाल खिलाये |
10● केले के वृक्ष का पूजन करे |
11● गुरुवार के दिन 108 बूंदी के लड्डू पार्वती माता के चढ़ाये |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*

code