जीना यहां मरना यहां, इसके सिवा जाना कहांरू रेहाना रियाज

0
चूरू, राजस्थान महिला आयोग की अध्यक्ष रेहाना रियाज का जन्मदिन स्वागत और करते काग्रेसजन




जन्मदिन पर समर्थकों की ओर से हुए समारोह में भावुक हुईं महिला आयोग अध्यक्ष रेहाना रियाज, कहा-बहू बनकर आई थी लेकिन आपने बेटी के रूप में मान-सम्मान दिया- यह आपका बड़प्पन

 

 

हैलो बीकानेर न्यूज नेटवर्क, चूरू, जगदीश सोनी, राजस्थान राज्य महिला आयोग अध्यक्ष रेहाना रियाज के जन्मदिन पर उनके समर्थकों ने जिला मुख्यालय स्थित मातु कमला गोइन्का टाऊन हॉल में जोरदार कार्यक्रम आयोजित कर उनका अभिनंदन किया और उत्साह के साथ जन्मदिन मनाया। अभिनंदन का प्रत्युत्तर देते हुए रेहाना रियाज भावुक नजर आई और उन्होंने कहा कि चूरू उनके लिए सब कुछ है।

 

 

वे अपने दायित्व निर्वहन के लिए कहीं भी होती हैं लेकिन वापस चूरू आकर ही उन्हें तसल्ली मिलती है। चूरू में वे बहू बनकर आई थीं, लेकिन चूरू ने उन्हें बेटी और बहिन के तौर पर बहुत मान-सम्मान दिया है। उन्होंने शायराना अंदाज में कहा, ‘जीना यहां मरना यहां, इसके सिवा जाना कहां।’समर्थकों-कार्यकर्ताओं की जोरदार भीड़ और आत्मीय अभिनंदन से उत्साहित रेहाना रियाज ने कहा कि मैं जो भी हूं, आप लोगों की बदौलत हूं।

 

 

चाहे पॉवर में होऊं या नहीं होऊं, आप लोगों के लिए हमेशा तैयार हूं। आपने हमेशा मुझे अपना प्यार और विश्वास दिया है, आप आगे भी मुझ पर भरोसा कर सकते हैं। आप लोगों का प्यार ही मेरी ताकत है। मुझे जीवन में अच्छे लोग मिले हैं, जिन्होंने मेरी आलोचना भी की तो मार्गदर्शन भी किया। यदि मैं कोई गलती करूं तो आप मुझे टोक सकते हैं। मैं यह विश्वास दिलाती हूं कि मैं कभी आपको निराश नहीं करूंगी। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए जो मेहनत कार्यकर्ताओं ने की है, जो प्यार और अपनापन दिखाया है, उसके लिए आजीवन ऋणी रहूंगी।

 

 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व प्रधान किसान नेता रणजीत सातड़ा ने कहा कि रेहाना रियाज की संगठन में कार्यक्षमता के सब लोग कायल हैं और इन्होंने महिला आयोग के अध्यक्ष पद पर भी बेहतरीन काम करते हुए एक मिसाल कायम की है। महिला आयोग के काम को जो गति और दिशा इन्होंने दी है, वह मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने भयंकर सर्दी के मौसम में बड़ी संख्या में कार्यक्रम में उपस्थिति देने वाले कार्यकर्ताओं का आभार जताया। वरिष्ठ कांग्रेस नेता रियाजत खान ने कहा कि आत्मीयता और मानवीयता से भरपूर रेहाना रियाज का व्यक्तित्व अपने आसपास  के लोगों को बहुत संबल देता है।

 

 

 

पूर्व प्रधान निर्मला सिंघल ने कहा कि रेहाना रियाज का सफर फर्श से अर्श का सफर हैं और ये आम-अवाम की तकलीफों को जानती हैं। क्रय-विक्रय सहकारी समिति के अध्यक्ष चिमनाराम कारेल ने कहा कि रेहाना रियाज ने आज तक जो हासिल किया है, वह अपने स्वयं के बलबूते पर किया है, अब हम सभी को भी इसमें भागीदारी निभानी चाहिए और इन्हें अपना समर्थन देना चाहिए। देहात ब्लॉक अध्यक्ष रामनिवास सहारण ने कहा कि रेहाना ने हमेशा अपने कार्यकर्ताओं को एक कुशल नेतृत्व दिया है।

 

 

 

डॉ बीके चौधरी ने कहा कि जिस प्रकार रेहाना रियाज महिला आयोग का काम कर रही हैं, उससे लोग बेहद प्रभावित हैं। डॉ देवकिशन सैनी, महावीर नेहरा, जमील चौहान, विद्याधर मेघवाल, सुनीता बाकोलिया, राजेंद्र कल्ला, अबरार खान, रमजान खान, सुखाराम घिंटाला, इमरान खोखर आदि ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए रेहाना रियाज की संवेदनशील कार्यशैली और आत्मीयतापूर्ण व्यवहार की सराहना की।

 

 

 

संचालन वरिष्ठ कांग्रेस नेता राधेश्याम चोटिया ने किया। इस मौके पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता नरेंद्र सैनी, विकास मील, नारायण सिहाग, हरदत्त खाखल, परमेश्वर लाल दर्जी, लालचंद सैनी, नानकराम डूडी, मजीद राणासर, शेरखान मलखान, सुशीला सुंडा, सरोज सैनी, रतन जांगिड़, रामेश्वर हुड्डा, सुनीता बाकोलिया, ताराचंद बुडानिया, वीरेंद्र बुडानिया, रामेश्वर भाम्भू, हेतराम देहरु, सद्दाम हुसैन, ताराचंद बांठिया, दिलीप सिंधी, हेमंत सिहाग, भंवर लाल मेघवाल, सत्यनारायण बाकोलिया, सिराज जोइया, वरुण सैनी, शकील कुरेशी, हरफूल आर्य, आबिद मोयल, सफी मो गांधी, अरविंद भाम्भू, दीपक गढ़वाल, भंवरलाल रुयल, शंकर नेहरा, महेश मिश्रा, मंगतूराम बागड़ा, राजीव बहड़, महेन्द्र सिहाग,  अहसान खान, अमरचंद कस्वां, दीपिका सोनी, सुनीता जांगिड, बिलाल धोबी, जावेद बहलीम, इमरान खोखर, योगेंद्र शर्मा, विक्की खान, सलीम पीए, रफीक चौहान, सलीम चौहान, श्रवण गुर्जर, पुरुषोत्तम बिजारणियां, जयचंद मेघवाल, जगदीश बेनीवाल, मुखराम पूनिया, राजकुमार पांडे, कालू महर्षि, भंवर लाल मीणा, राजकुमार सारस्वत, राजेन्द्र राजपुरोहित सहित बड़ी संख्या में देहात एवं शहर के कार्यकर्ता एवं आमजन मौजूद थे।