मनन चतुर्वेदी ने किया बालिका गृह का निरीक्षण

0



बीकानेर,। राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने बालिका गृह का निरीक्षण किया और यहां आवासित बालिकाओं के साथ करीब एक घन्टा बिताया।
चतुर्वेदी ने रविवार को बालिकागृह में बालिकाओं की शिक्षा,खेल-कूद गतिविधियों के साथ उन्हें मनोरंजन के लिए उपलब्ध कराए गएं संसाधनों के उपयोग के बारे में नारी निकेतन अधीक्षक और बालिकागृह अधीक्षक से जानकारी ली। उन्होंने बालिका रितु,रूबी,लक्ष्मी,प्रिया,प्रतीक्षा व काजल से उन्हें दी जा रही सुविधाओं के बारे में चर्चा की। उन्होंने बालिका गृह में बनने वाले भोजन की गुणवता और साफ-सफाई पर विशेष सतर्कता बरतने के अधिकारियों को निर्देश दिए।
नारी निकेतन की अधीक्षक कविता स्वामी ने बालिका गृह और नारी निकेतन बालिकाओं के द्वारा तैयार किए विभिन्न उत्पाद का अवलोकन करवाया। इस पर उन्होंने कहा कि राज्य के सभी नारी निकेतन व बालिका गृह में इस प्रकार के उत्पाद तैयार हो,इसके बारे में शीघ्र ही दिशा-निर्देश जारी किए जायेंगे। उन्होंने बताया कि बच्चों की कला को निखारा जायेगा और इनके द्वारा बनाए गए उत्पादों की प्रदर्शनी लगाकर बाजार में विक्रय किया जायेगा।
चतुर्वेदी ने नारी निकेतन में बंगाल की बालिका अपूर्णम से अलग से बातचीत करते हुए उसे उसके घर पहुंचाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने अपूर्णम और किशोरगृह में आए उत्तर प्रदेश के कांसगंज के कृष्णा के बारे में बाल कल्याण समिति,बीकानेर के अध्यक्ष वाई.के.शर्मा ’योगी’ से जानकारी ली और पूछा कि दोनों बच्चों को उनके घर भिजवाने के लिए क्या प्रयास किए गए। योगी ने बताया कि बंगाल व उत्तर प्रदेश की बालकल्याण समिति से सम्पर्क किया गया था,परन्तु संतोषजनक जबाव नहीं मिलने के कारण कार्यवाही आगे नहीं बढ़ पाई है। उन्होंने बताया कि समिति दोनों के परिवारों के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है। इस पर मनन चतुर्वेदी ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि दोनों प्रकरणों को रिपोर्ट तैयार कर, उन्हें भिजवाएं,जिससे संबंधित राज्य सरकार से चर्चा कर,इनका निस्तारण करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि जो बच्चा जहां का है,उसे वहीं भिजवाया जायेगा।
नारी निकेतन अधीक्षक कविता स्वामी ने बताया कि बालिका गृह में 6,नारी निकेतन में 2 और शिशुगृह में 8 बच्चों की देखभाल की जा रही है। उन्होंने बताया कि बच्चों को खेलकूद की सुविधा यहां उपलब्ध है।
योजनाओं की क्रियान्विति सुनिश्चित होगी- बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं कमजोर,गरीब व निराश्रित बच्चों के लिए चलाई जा रही है। उनका प्रयास रहेगा कि इन योजनाओं की क्रियान्विति सही रूप से हो। निचले स्तर तक इनकी माॅनिटरिंग होनी चाहिए। आयोग यही प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के मामलों वे पुलिस व प्रशासन से मिलकर,प्रभावी कार्यवाही के लिए कहेगी।
इस अवसर पर सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के उप निदेशक एल.डी.पंवार,बालिका गृह के अधीक्षक किसनाराम लोल,बाल संरक्षण समिति की सदस्य जयश्री पारीक उपस्थित थे।