शहर में पानी पेयजल की किल्लत को लेकर अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा

0
चूरू, सुजानगढ़ शहर में पानी पेयजल की किल्लत को लेकर भाजयूमो द्वारा अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन देते




हैलो बीकानेर न्यूज नेटवर्क, चूरू, जगदीश सोनी , hellobikaner.com सुजानगढ़ शहर में पानी पेयजल की किल्लत को लेकर भाजयूमो के पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र गुर्जर ने जिला कलेक्टर के नाम अतिरिक्त जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गुर्जर ने ज्ञापन में बताया कि आपने स-ज कंपनी ने सुजानगढ़ शहर के अंदर नई पाइप लाइन डालने,रखरखाव व समस्त कार्य का टेंडर लिया था लेकिन शहर के कुछ क्षेत्रों में लाइने केवल कागजों में ही डालीं गई है।

 

 

 

धरातल पर नहीं और इस कारण सुजानगढ़ की आम जनता को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है गुर्जर ने वार्ड नंबर 21 में रफीक अगवान के घर से गुलाम नबी भाटी के घर की गली पूर्व विधायक रामेश्वर भाटी के घर की गली मैं पाइपलाइन नहीं डालने के कारण पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है वार्ड नंबर 12 में फैजाना रेजान मस्जिद की गली,सरवर के घर की गली अनवर अगवान के घर की गली थी।

 

 

 

छिपयान स्कूल की गली अजीज खा के घर की गली सहित कई गलियों में पाइपलाइन नहीं डालने के कारण वार्ड नंबर 12 के निवासियों को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है गुर्जर ने बताया कि इस समस्या को लेकर पिछले 2 वर्ष से लगातार अपणी योजना व जलदाय विभाग के अधिकारियों को अवगत करा रहे हैं लेकिन आपणी योजना के अधिकारी जलदाय विभाग पर डालने का प्रयास करते हैं और जलदाय विभाग के अधिकारी आपणी योजना पर दोनों ही विभाग के अधिकारी काम नहीं करना चाह रहे।

 

 

 

गुर्जर ने बताया कि इस समस्या को लेकर आपणी योजना के अधिशासी अभियंता राम अवतार सैनी व जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता महेंद्र कांटीवाल, सहायक अभियंता दिनेश महला को कई बार अवगत करा चुके हैं लेकिन अधिकारी समस्या समाधान पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं गुर्जर ने बताया कि इस भ्रष्टाचार की जांच को लेकर पूर्व में भी मैंने आंदोलन किया था और 16 दिन तक भूख हड़ताल की थी।

 

 

 

तब आपणी योजना के अधिकारियों ने जांच करवाने का आश्वासन दिया था लेकिन 2 साल बीत जाने के बावजूद भी इस प्रकरण में कोई भी जांच नहीं हुई हैं। गुर्जर ने ज्ञापन में मांग की है कि अपणी योजना की लाइन डालने में जो भ्रष्टाचार हुआ है उसकी जांच करवाई जाए और वार्ड नंबर 12 व 21 के निवासियों की पेयजल की समस्या का जल्द से जल्द समाधान किया जाए।