राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर में विद्यार्थियों का श्रमदान

0



विद्यार्थी रखे ‘अर्जुन वाली आंख’
लूनकरनसर। अध्ययन के साथ-साथ विभिन्न रचनात्मक गतिविधियां हमारे संस्कारों की अंवेर करती है, ऐसे में विद्यार्थी ‘अर्जुन वाली आंख’ रखकर ही लक्ष्य को आसानी से साध सकता है। यह बात युवा साहित्यकार राजूराम बिजारणियां ने कही। वे सोमवार को स्थानीय राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में चल रहे राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर में बतौर संदर्भ व्यक्ति बोल रहे थे। उन्होनें इस मौके पर विद्यार्थियों से कहा कि राष्ट्र निर्माण की अहम कड़ी विद्यार्थी ही होता है।
beautyplus_20170102144552_save
व्याख्याता राजेन्द्र प्रसाद घिंटाला ने कहा कि विद्यार्थी देश के भविष्य को दिशा देने में महत्ती भूमिका निभाता है। शिविर प्रभारी भागूराम महला ने एनएसएस की गतिविधियों से अवगत करवाते हुए विद्यार्थियों की सेवा के संदर्भ में भूमिका पर प्रकाश डाला।
शिविर में वरिष्ठ शारीरिक शिक्षक भंवर लाल नैण, सहायक कार्मिक रामचंद्र नाथ, कनिष्ठ लिपिक मनोहर मीणा आदि ने अपने विचार विद्यार्थियों के साथ साझा किए। शिविर के तीसरे दिन विद्यार्थियों ने सार्वजनिक स्थलों पर श्रमदान किया।