ऊंट उत्सव बीकानेर में 14-15 जनवरी को

0


बीकानेर। पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में 14 और 15 जनवरी को होने वाले ऊंट उत्सव की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। पर्यटन विभाग की सहायक निदेशक भारती नैथानी ने बताया कि मिस मरवण और मिस्टर बीकाणा के लिए आवेदन प्राप्त हो रहे हैं। ग्यारह जनवरी तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। उन्हांने बताया कि ऊंट पालकों ने ऊंट उत्सव से संबधित विभिन्न तैयारियों प्रारम्भ कर दी हैं। फर कटिंग और ऊंट नृत्य प्रतियोगिताओं का अभ्यास किया जा रहा है। ऊंट उत्सव में दोनों दिन सांस्कृतिक संध्या आयोजित होगी। पहले दिन लोक गायक कुतले खां प्रस्तुति देंगे। दूसरे दिन राजस्थान लोक नृत्य एवं गीतों की प्रस्तुतियां दी जाएंगी। इनमें मयूर नृत्य, रिम भवई, घूमर, लंगा, कालबेलिया, अलगोजा और भपंग आदि नृत्यों एवं राजस्थानी लोक गीत प्रस्तुत किए जाएंगे। 14 जनवरी को शोभायात्रा निकलेगी। इसमें सजे-धजे ऊंट, रोबीले तथा स्कूली छात्राएं भाग लेंगी। पर्यटन अधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह ने बताया कि शोभायात्रा, जूनागढ़ के पास से निकलेगी और विभिन्न मार्गों से होते हुए डॉ. करणीसिंह स्टेडियम पहुंचेगी। ऊंट उत्सव में पहली बार आयोजित होने वोल ‘हैरिटेज वॉक’ का विभिन्न स्थानों पर पुष्पवर्षा द्वारा स्वागत किया जाएगा। लोकायन के गोपाल सिंह चौहान ने बताया कि रविवार को रामपुरिया हवेलियों से लेकर बीकाजी की टेकरी तक के हैरिटेज वॉक का अवलोकन किया गया तथा विभिन्न व्यापारिक संगठनों, दुकानदारों एवं आमजन को हैरिटेज वॉक का अभिनंदन करने का आह्वान किया। इस बार ऊंट उत्सव का प्रचार-प्रसार पारम्परिक माध्यमों के अलावा सोशल मीडिया पर भी किया जा रहा है। व्हाट्सअप एवं फेसबुक के माध्यम से प्रोमोज एवं इंफ्रोग्राफिक्स वायरल किए जा रहे हैं। जनसंपर्क कार्यालय, बीकानेर के ऑफिसियल फेसबुक पेज ‘पीआरओ बीकानेर’ पर ऊंट उत्सव से संबंधित प्रोमोज को एक दिन में लगभग चार हजार लोग देख चुके हैं तथा 25 से अधिक फेसबुक यूजर्स ने इसे शेयर किया है। हैरिटेज वॉक सहित विभिन्न कार्यक्रमों के लिए विशेष इंफोग्राफिक्स बनाए गए हैं। केन्द्रीय वित्त एवं कंपनी मामलात राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने भी ऊंट उत्सव से संबंधित ट्वीट किया है।