आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता से हो निस्तारण-संसदीय सचिव

0


बीकानेर,। संसदीय सचिव एवं जिले के जन अभाव-अभियोग प्रभारी डॉ. विश्वनाथ मेघवाल ने कहा कि अधिकारी-जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रस्तुत प्रकरणों को गंभीरता से ले और उनका निराकरण करवाते हुए, इसकी सूचना दी जाए।
संसदीय सचिव मंगलवार को पंचायत समिति, बीकानेर की साधारण सभा में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा बताए गए कार्यों को गंभीरता से लें और उनके कामों को प्राथमिकता दी जाए। उन्होंने पानी-बिजली और सड़कों के संबंध में जन प्रतिनिधियों द्वारा उठाए गए मु्द््दों पर संबंधित अधिकारियों से सवाल-जबाब किए और निर्देश दिए निर्धारित समयावधि में कार्यों को पूरा करवाया जाए।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए पंचायत समिति की प्रधान राधा देवी ने गत बैठक में जन प्रतिनिधियों द्वारा बताई गई समस्याओं की विभागवार समीक्षा की और कहा कि बजट के अभाव में कार्य नहीं होने की बात कहकर पानी-बिजली और सड़क जैसे कार्य बाधित नहीं होने चाहिए। उन्होंने कहा कि विभागों को चाहिए कि समय रहते ग्रामीण विकास की योजनाओं के लिए आवश्यक धन राशि की व्यवस्था के लिए उच्च अधिकारियों से चर्चा करके बजट प्राप्त किया जाए। उन्होंने गाढ़वाला-नापासर सड़क के पुनः निर्माण की आवश्यकता जताई और कहा कि जब तक विभाग द्वारा इसका बजट नहीं दिया जाता है, तब तक इसका पेचवर्क करवाया जाए। उन्होंने जयमलसर में पानी की पाइपलाइन डालने के बावजूद कनेक्शन नहीं किए जाने की जानकारी ली और निर्देश दिए यह कार्य आगामी एक सप्ताह में हो जाना चाहिए।

बैठक में अधिकारियों के देरी से आने और अनुपस्थित रहने पर प्रधान ने विकास अधिकारी को निर्देश दिए ऎसे अधिकारियों को नोटिस जारी किए जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि साधारण सभा की बैठक को गंभीरता से लिया जाए और यहां जो समस्याएं उठाई जाती है,उनके समाधान के लिए सार्थक प्रयास होने चाहिए।

बैठक में उदयरासर में नलकूपों के खराब होने और नहरी पानी दिए जाने, ग्राम पलाना में बनेे टयूबवैल में आधी मात्रा में पानी आने और श्मशान भूमि एंव आसपास के घरों में जलापूर्ति सही ढंग से नहीं होने, गांव गाढ़वाला में पेयजल हेतु डाली गई लाइन में जलापूर्ति नहीं होने, नापासर के मुख्य बाजार के पास बनी जलदाय विभाग की अनुपयोगी टंकी को हटवाने तथा नापासर-देशनोक रोड की पाइपलाइन की मरम्मत करवाने, विभिन्न पेयजल स्कीमों पर नियुक्त कार्मिकों के मानदेय का भुगतान दिलाये जाने के बारे में जन प्रतिनिधियों ने प्रस्ताव रखे। बिजली विभाग की चर्चा के दौरान जन प्रतिनिधयों ने ग्राम पंचायत जालवाली व लाखूसर में वॉल्टेज की समस्या के निराकरण, नाल से सालासर सड़क मार्ग तक विद्युत के ढीले तारों को कसवाने, जामसर दरगाह दरगाह के पास एक और ट्रांसफार्मर लगाने, ग्राम नौरंगदेसर में लगे बिजली के ट्रांसफार्मर के चारों ओर तारबंदी अथवा चारदीवारी करवाने, गाढ़वाला जीएसएस पर नियुक्त कर्मचारी द्वारा समय पर ड्यूटी नहीं देने, रिडमलसर सिपाहियान के वार्ड नम्बर 15 में बिजली की आपूर्ति सुचारू रखने के लिए ट्रांसफार्मर लगवाने के प्रस्ताव दिए गए।

पंचायत समिति क्षेत्र के विभिन्न गांवों में क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण, नवीन सड़क निर्माण तथा सड़कों के डामरीकरण के बारे में जन प्रतिनिधियों ने ध्यान आकर्षित किया। चिकित्सा विभाग की चर्चा के दौरान शेरेरां में पशुचिकित्सालय की सेवाएं सही करवाने, गाढ़वाला पशु चिकित्सालय को सामुदायिक भवन में ही रहने देने, कोलायत मुख्यालय पर पशु चिकित्सालय स्वीकृत करवाने, नापासर दंत चिकित्सक की उपस्थिति सुनिश्चित करवाने आदि की आवश्यकता जताई गई। इसके अलावा शिक्षा, राजस्व, रसद, कृषि एवं वन विभाग से जुड़े मामलों पर जन प्रतिनिधियों ने मुददे उठाए और इनपर प्रभावी कार्यवाही करवाए जाने पर जोर दिया।

साधारण सभा की बैठक में जिला प्रमुख सुशीला सिवर, उप प्रधान शिल्पा गेदर, विकास अधिकारी कैलाश चौधरी सहित विभिन्न ग्राम पंचायतों के सरपंच व पंचायत समिति सदस्य उपस्थित थे।