प्रधानमंत्री के संबोधन में शामिल कई बड़े ऐलान

0


नई दिल्ली। आठ नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के 50 दिन पूरे होने के बाद शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश दिया। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे पहले देशवासियों को नववर्ष की बधाई दी।प्रधानमंत्री ने कहा कि आठ नवंबर को नोटबंदी लागू होने के बाद देशवासियों ने जो कष्ट झेला, वह देशहित के लिए एक मिसाल है। मोदी ने कहा कि देश की जनता ने तकलीफ सहकर उज्जवल भविष्य की आधारशिला रखी है। देश के ‘शुद्धियज्ञ’ के काम में सरकार और जनता ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ रहे थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के दौरान देशवासियों ने चि_ियां लिखकर अपना दर्द भी मुझसे साझा किया है। अपना पैसा निकालने के लिेए भी लोगों को लाइन में लगना पड़ा था, लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ हिंदुस्तानियों ने जो लड़ाई लड़ी, वह पूरी दुनिया में एक मिसाल है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी कहा ….
बड़े नोट कालाधन और भ्रष्टाचार को बढ़ा रहे थे, इसलिए बंद करना जरूरी था। देश में सिर्फ 24 लाख लोग स्वीकारते हैं कि उनकी आय 10 लाख रुपए से ज्यादा है। ईनामदारों को सरकार सुरक्षा प्रदान करेगी। ईमानदारों की मुुसीबत कम करना हमारी प्राथमिकता है। हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्य धारा में आ रहे हैं भटके हुए नौजवान।
बैंक कर्मचारियों ने नोटबंदी के दौरान कड़ी मेहनत की है, सभी ने सराहनीय काम किया। कुछ बैंक कर्मचारियों के गंभीर अपराध सामने आए हैं और फायदा उठाने का निर्लज्ज् प्रयास किया। दोषी बैंक कर्मचारियों को छोड़ा नहीं जाएगा, उन्हें कठोर सजा दी जाएगी। बैंकों से कहना चाहता हूं कि इतने कम समय में इतनी बड़ी मात्रा धन कभी उनके पास नहीं आया था। बैंक अपने परंपरागत कामों को करने के साथ गरीबों की मदद के लिए सामने आए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को शहरों में मकान दिए जाएंगे। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो योजनाएं लागू की जा रही है। घर बनाने के लिए नौ लाख के लोन पर चार फीसदी ऋण की रियायत दी जाएगी। 12 लाख रूपए तक का होम लोन लेने पर तीन फीसदी की छूट दी जाएगी। पिछले वर्ष की तुलना में रबी की बुआई में छह फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। किसानों ने खाद भी नौ फीसदी भी ज्यादा उठाया है।
किसानों के दिए गए कर्ज का 60 दिन का ब्याज सरकार वहन करेगी। अगले तीन महीने में तीन करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रूपे कार्ड में बदला जाएगा।
किसान कहीं पर भी अपने रूपे कार्ड से खरीदी और बिक्री कर सकेगा।
कारोबारियों की क्रेडिट गारंटी एक करोड़ की जगह दो करोड़ रूपए होगी।
व्यापारियों के डिजिटल लेन-देन की गणना छह फीसदी मानकर टैक्स की गणना की जाएगी।
देश के सभी 650 से ज्यादा जिलों में गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपए की मदद दी जाएगी।
बुजुर्गों को 7.5 लाख की राशि पर दस साल के लिए आठ फीसदी ब्याज दिया जाएगा।
लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ कराए जाने चाहिए।
आम आदमी से लेकर राष्ट्रपति और कई राजनीतिक दल भी साथ चुनाव कराने को लेकर सहमत हैं।
डिजिटल लेन देन करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोग भीम एप का इस्तेमाल करें।